Saturday, January 28, 2023
Homeटॉप न्यूज़EARTHQUAKE: दिल्ली में भूकंप के तेज़ झटके

EARTHQUAKE: दिल्ली में भूकंप के तेज़ झटके

Date:

DELHI:दिल्ली NCR में दोपहर करीब 2 बजकर 28 मिनट पर तेज़ EARHTQUAKE: भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिएक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.8 मापी गई। भूकंप का केंद्र नेपाल में 10 किलोमीटर अंदर बताया जा रहा है।

कई राज्यों में महसूस किया गया भूकंपः

24 जनवरी दोपहर 02:28 पर दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कई राज्यों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। झटके इतने तेज़ थे कि लोगों ने इस झटके को अपने घरों और ऑफिस में महसूस किया। हालांकि अभी तक भूकंप की वजह से कोई जानमाल के नुकसान की जानकारी नहीं मिली है।

नेशनल सेंटर फ़ॉर सीस्मेलॉजी के अनुसार भूकंप की तीव्रता 5.8 मापी गई है। और इसका केंद्र नेपाल में 10 किलोमीटर ज़मीन के अंदर बताया जा रहा है। इससे पहले 5 जनवरी को भी भूकंप आया था। जिसकी तीव्रता 5.9 थी और इसका केंद्र अफ़गानिस्तान का हिंदू कुश इलाका था।

कब-कब आए भारत में भूकंपः

अगर बड़े भूकंप की बात करें, तो रिएक्टल स्केल पर 5 से ज्यादा की तीव्रता वाला भूकंप ख़तरनाक माना जाता है। बात करते हैं भारत में पिछले कुछ सालों में आए भूकंप के बारे में-

 28 जुलाई 2022 को छत्तीसगढ़ में 4.6 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया था। जिसमें पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

वहीं 28 मार्च 2021 में असम में भूकंप आया था। जिसकी तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 6.0 मापी गई थी। इसमें दो लोगों की मौत और 12 लोग घायल हो गए थे।

24 जुलाई 2019 को महाराष्ट्र में 4.1 तीव्रता भूकंप आया था। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हुई थी।

12 सितंबर 2018 को असम की धरती हिलने से एक की मौत और 25 लोग घायल हो गए थे। इस भूकंप की तीव्रता 5.3 मापी गई थी।

ऐसा ही भूकंप भारत-बांग्लादेश में 4 जनवरी 2016 को 5.7 स्केल की तीव्रता से   आया था। जिसमें तीन लोग मारे गए थे और आठ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

वहीं 26 अक्टूबर 2015 को भारत, अफगानिस्तान, पाकिस्तान में एक साथ भूकंप आया था। जिसमें 399 लोग मारे गए थे और 2,536 घायल हुए थे।

भारत और नेपाल में 25 मार्च 2015 को भयानक भूकंप आया था। जिसमें ज़मीन काफी देर तक हिलती रही थी और 7.8 तीव्रता से आए इस भूकंप में 21,952 घायल हो गए थे तो वहीं 8,964 मारे गए थे।

2005 में कश्मीर में भूकंप ने भयानक तबाही मचाई थी। पाकिस्तान समेत कश्मीर में 7.6 तीव्रता का भूकंप आया था। उस भूकंप में दोनों मुल्कों में 130,000 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी।

गुजरात मे आए भूकंप से हुई थी बड़ी तबाहीः

26 जनवरी, 2001 को जब पूरा देश गणतंत्र दिवस मना रहा था। तब सुबह 08 बजकर 46 मिनट पर भूकंप आया। जिसमें करीब 2 मिनट तक ज़मीन हिलती रही। इसमें जानमाल की बहुत हानि हुई थी। गुजरात के भुज में आए भूकंप में करीब 30,000 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं डेड़ लाख से ज्यादा लोग जख़्मी हो गए थे और लगभग 4 लाख लोग जमींदोज़ हो गए। साथ ही इस भूकंप से घर और मकान पूरी तरह से धवस्त हो गए थे। इसकी तीव्रता 7.7 मापी गई थी।

 

 

 

Latest stories

Related Stories