Tuesday, October 4, 2022
HomeStatesTokyo Olympics 2020: बेटियों के आगे बढने पर, परिवार के साथ पूरे...

Tokyo Olympics 2020: बेटियों के आगे बढने पर, परिवार के साथ पूरे देश ने खुशी का परचम लहराया

Date:

सोनीपत /राम सिंह

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारतीय महिला हॉकी टीम ने दुनिया की दूसरी सर्वश्रेष्ठ टीम ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में जगह कायम कर ली है। टोक्यो ओलंपिक 2020 का यह दिन खासतौर पर याद रखा जाएगा क्योंकि महिला हॉकी टीम ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को हराकर पूरी दुनिया को चौंका दिया है। जहां जीत दर्ज होने के बाद सोनीपत में खुशी का माहौल है, क्योंकि सोनीपत की 4 बेटियां ओलंपिक में महिला हॉकी टीम में खेल रही हैं।

इतिहास गवाह है कि जब-जब बेटियों ने किसी भी क्षेत्र को चुना है तो लिहाजा अपना परचम लहराया है। ताजा उदाहरण टोक्यो ओलंपिक 2020 में देश की महिला हॉकी टीम ने कड़े मुकाबले के बीच क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है। अंतिम कुछ मिनटों में मैच लगातार रोमांचक दिखाई दिया ।सब की धड़कन रुक गई थी। जहां भारतीय महिला हॉकी टीम ने संयम और मजबूती के साथ खेल में अच्छा प्रदर्शन किया तो भारतीय हॉकी टीम क्वार्टर फाइनल के मुकाबले में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो गई है। वही जीत की खुशी के बाद न केवल पूरे देश भर में बल्कि सोनीपत से महिला हॉकी टीम में खेल रही चार बेटियों के घरों में और पूरे जिले में खुशी का माहौल है। लोग परिजनों के घर पहुंच कर बधाई दे रहे हैं।

परिजन एक दूसरे को मिठाईयां बांटकर खुशियां व्यक्त कर रहे हैं। जहां सोनीपत में हॉकी मैदान पर तीन बेटियों नेहा गोयल, निशा वारसी और शर्मिला खून पसीना बहाती थी। वही तीनों बेटियों को विषम हालात में हॉकी के मैदान पर पारंगत करने वाली उनकी कोच प्रीतम सिवाच ने भी जमकर खुशियां मनाई है और उन्होंने कहा ऑस्ट्रेलिया से खेले से पहले मुकाबला काफी मुश्किल लग रहा था।

ऑस्ट्रेलिया दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी टीम मानी जाती है वहीं उन्होंने बताया कि आज भारतीय हॉकी टीम की रणनीति और कोच का खेल प्लान लिहाजा कामयाब हो गया।कोच प्रीतम ने कहा  नेहा गोयल ने अपने खेल को साबित किया कि वह एक बेहतर खिलाड़ी है। वहीं दूसरी तरफ निशा वारसी और शर्मिला ने भी खेल में अच्छा प्रदर्शन टीम के साथ किया है। अंतिम 5 से 6 मिनट में उनकी कोच प्रीतम सिवाच काफी एक्साइटेड नजर आई। उन्होंने कहा कि टीम जीतने के बाद बहुत खुशी हो रही है और सुबह से ही लगातार बधाई हो कि संदेश मिल रहे हैं। एक कोच के लिए इससे बड़ा गर्व कोई और नहीं हो सकता।

सोनीपत की चौथी बेटी मोनिका के घर भी खुशी का माहौल है।

वही नेहा के घर पर भी खुशी का माहौल देखने को मिला नेहा की मां सावित्री  ने कहा कि हमें बहुत खुशी है उन्होंने मैच देखा और मैच देखकर बहुत खुशी हो रही है कि टीम ने जीत दर्ज करी है ।वही उसकी मां ने कहा कि टीम मेडल लेकर आएगी, ऐसी उम्मीद जताई है। साथ ही खुशी से गदगद उसकी मां ने कहा कि खूब मिठाई बाटी जाएंगी।

नेहा के ताऊ श्यामसुंदर गुप्ता ने कहा कि आज महिला हॉकी टीम ने बहुत ही अच्छा खेल दिखाते हुए सेमीफाइनल में अपनी जगह कायम कर ली है। खुशी का अंदाजा नहीं है। पूरी टीम ने मेहनत से ही सेमीफाइनल में पहुंची है और पूरी टीम से गोल्ड मैडल लेकर आने की उम्मीद कर रहे हैं।

वही निशा वारसी के पिता ने कहा कि हिंदुस्तान की बेटी  और पूरी टीम के बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मुबारकबाद देता हूं। हमारी बेटियां हॉकी टीम सेमीफाइनल में पहुंची है। बहुत ही खुशी और गर्व की बात है। ऑस्ट्रेलिया बड़ी टीम मानी जाती है..बेटियों ने बहुत मेहनत करके 1-0 से ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया है… पूरा परिवार मिठाई खिला रहा है और बधाइयां खूब मिल रही है। मैडल दो कदम दूर है। मनोकामना करते हैं कि देश की बेटी हिंदुस्तान के लिए मेडल लेकर आएं।

Latest stories

Related Stories