Tuesday, December 6, 2022
HomeStatesहरियाणा की खेल नीति देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे अच्छी

हरियाणा की खेल नीति देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे अच्छी

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News: हरियाणा में हो रहे खेलो इंडिया यूथ गेम्स की वजह से अब तेजी से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों का उदय राज्य में होगा और हरियाणा अब कुश्ती और मुक्केबाजी की तरह अन्य खेलों में भी लीड करेगा।

खेलों को बढ़ावा देने के लिए बनाई खेल नीति

वर्तमान राज्य सरकार ने हरियाणा में खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेल नीति बनाई है और खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भाग लेने वाले विभिन्न प्रदेशों के खिलाड़ियों और कोचों से बातचीत के दौरान यह बात सामने आ रही है कि सभी इस खेल नीति की सराहना कर रहे हैं जिससे हरियाणा में खेलों को बेहतरीन तरीके से बढ़ावा मिल रहा है। यही वजह है कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स में हरियाणा अभी तक सबसे अधिक गोल्ड मेडल लेकर आगे चल रहा है।

ऐसा माना जा रहा है कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स खिलाड़ियों व दर्शकों पर एक अमिट छाप तो छोड़ेंगे ही और साथ में खेलो इंडिया यूथ गेम्स को आयोजित करने के लिए जिस प्रकर से पंचकूला व अम्बाला सहित अन्य जगह पर बुनियादी ढांचे तैयार किए गए हैं, उससे आने वाले समय में खिलाड़ियों के साथ-साथ आयोजकों को भी फायदा होगा।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में कई ऐसे गेम है जो पहली बार आयोजित किए जा रहे हैं, जिनका आयोजन विशेष तौर पर पंचकूला के ताऊ देवी लाल स्टेडियम में किया जा रहा है। इन खेलों में हालांकि हरियाणा के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं, परंतु इन खेलों में हमारे खिलाड़ियों के पास उतना अनुभव नहीं है, लेकिन अब उनके खेल को देखकर लग रहा है कि इन स्वदेशी खेलों जैसे कि थांग-ता, कलारिपायत्तू और मलखंब इत्यादि में हरियाणा के खिलाड़ी आने वाले समय में लीड करेंगे और अपना वर्चस्व कायम करेंगे।

स्कूली बच्चों में इन स्वदेशी खेलों के साथ-साथ विभिन्न खेलों में विशेष रुचि दिखाई दे रही है। एक राजकीय स्कूल से मैच देखने आए आठवीं कक्षा के विद्यार्थी अहमद ने बताया कि वे आज यहां पर वॉलीबॉल का खेल देखने आए हैं जिसमें राजस्थान और केरला की टीम का मुकाबला हो रहा है। इस मुकाबले में हालांकि केरल ने बहुत कम मार्जिन से राजस्थान को शिकस्त दी लेकिन यह मैच उन्हें बहुत अच्छा लगा और वे अब वॉलीबॉल खेल को अपने जीवन में अपनाना चाहते हैं। उसने यह भी कहा कि वे खेलो इंडिया यूथ गेम्स के समापन के पश्चात यहां पर कोच से संपर्क करके वॉलीबॉल के खेल को अपने जीवन में अपनाएंगे।

ऐसे ही हैंडबॉल के हो रहे मैच के दौरान स्कूली छात्राओं में सरिता कुमारी, जो की आठवीं कक्षा में पढ़ती हैं, ने बताया कि वह आज यहां पर हैंडबॉल का मैच देखने आई है और उन्हें बहुत ही अच्छा लग रहा है। उन्होंने कहा कि इस इंडोर स्टेडियम में हैंडबॉल के लिए बेहतरीन अवसरंचना स्थापित की गई है और इस अवसंरचना को देखकर वे काफी प्रभावित है। वह चाहती है कि हरियाणा में खेलो को बढ़ावा देने के लिए और भी कई प्रकार के गेम्स आयोजित किए जाएं। उन्होंने बताया कि वे अपने मित्रों व सहेलियों को हैंडबॉल खेलने के लिए प्रेरित भी करेंगी।

राजस्थान की हैंडबॉल टीम के कोच से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि हरियाणा की खेल नीति काफी अच्छी है और यहां पर जिस प्रकार खिलाड़ियों को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खेलों में मेडल जीतने पर सबसे अधिक राशि और सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं उससे खिलाड़ियों का रुझान अपनी पसंद के खेलों में बढ़ा है।

यह भी पढ़ें : मुगलों के पतन की तरह राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के पतन के क्या कारण रहे…

यह भी पढ़ें : हरियाणा राज्यसभा चुनाव रिजल्ट-2022 : निर्दलीय कार्तिकेय शर्मा ने राज्यसभा का दंगल जीता

यह भी पढ़ें : हरियाणा राज्यसभा चुनाव रिजल्ट 2022 : कार्तिकेय शर्मा 2966 वोट हासिल कर जीते

यह भी पढ़ें : कार्तिकेय शर्मा और पंवार की जीत हरियाणा की जनता की जीत: मुख्यमंत्री

यह भी पढ़ें : कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस पार्टी से सस्पेंड

Connect With Us : Twitter Facebook

 

Latest stories

Related Stories