Saturday, January 28, 2023
HomeनेशनलSnowfall In Uttarakhand: उत्तराखंड में बदरीनाथ-हेमकुंड और पिथौरागढ़ में शुरू हुई सीजन...

Snowfall In Uttarakhand: उत्तराखंड में बदरीनाथ-हेमकुंड और पिथौरागढ़ में शुरू हुई सीजन की पहली बर्फबारी

Date:

इंडिया न्यूज, Snowfall In Uttarakhand: उत्तराखंड में शनिवार को मौसम बदलने से इस सीजन की पहली स्नोफॉल हुई। बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब के अलावा पिथौरागढ़ धारचूला में भी मौसम बदलने से चोटियों पर बर्फबारी हुई। पिथौरागढ़ की दारमा घाटी के चीन सीमा की आखिरी चौकी में लगभग 14 इंच बर्फ और पहाड़ों में एक फुट से ज्यादा स्नोफॉल हुई।

5780 श्रद्धालुओं ने धाम के लिए शुरू की यात्रा

Uttarakhand Weather Update: Heavy Snowfall In Hemkund Sahib See Beautiful  Photos - उत्तराखंड: हेमकुंड साहिब में सीजन की पहली बर्फबारी, जमी दो फीट तक  बर्फ, देखें मनमोहक तस्वीरें ...

राज्य के सभी पहाड़ी इलाकों में कहीं बारिश तो कहीं बादल छाए हुए हैं। वहीं केदारनाथ यात्रा शनिवार को सुचारू की गई। सुबह 8 बजे तक सोनप्रयाग से 5780 श्रद्धालुओं ने धाम के लिए यात्रा शुरू की। देहरादून के आस पास क्षेत्रों में भी रुक-रुककर बारिश का सिलसिला बना हुआ है।

बिजली गिरने की जताई आशंका

उतराखंड में आज भी मौसम खराब है। देहरादून, टिहरी और बागेश्वर जिलों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना है। इन जगहों पर मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार इन जिलों में भारी बारिश की संभावना है। कुछ इलाकों में बिजली गिरने की भी आशंका जताई जा रही है। मौसम विभाग ने जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन के अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें : Bank Deposits 11677 Crore : गलती से खाते में आए करोड़ों रुपए और लगा दिए शेयर मार्कीट में, इतना हुआ मुनाफा

कैलाश की चोटियों में एक फुट से अधिक बर्फबारी

Uttarakhand Snowfall Archives - News Nukkad

दारमा घाटी के प्रसिद्ध पंचाचूली ग्लेशियर और व्यास घाटी के ओम पर्वत और आदि कैलाश की चोटियों में एक फुट से अधिक बर्फबारी गिरी है। पूर्णागिरि मार्ग पर लादीगाड़ के पास सड़क पर चट्टान गिरने से रास्ता बंद हो गया है। अलबत्ता चट्टान गिरते वक्त मूवमेंट नहीं होने से नुकसान नहीं हुआ। चट्टान के लुढ़कने से ठुलीगाड़ से भैरव मंदिर तक ट्रैफिक हो गया।

19 सितंबर तक लगी रोक

सड़क बंद हो जाने के कारण फंसे हुए बाइक सवारों ने अपने वाहनों को बाहर निकाला। प्रशासन ने मौसम को ध्यान में रखते हुए पूर्णागिरि धाम के दर्शन करने पर 19 सितंबर तक रोक लगा दी है सड़क बंद होने के कारण सेलागाड़ और आसपास के लोगों के मूवमेंट पर असर पड़ा है। बारिश से हुए मलबे के कारण चंपावत जिले की 14 ग्रामीण सड़कें बंद हो गयी है।

चंपावत जिले की बंद हुई सड़कों के नाम: बसौटी-रौकुंवर, पुनावे-सिप्टी-न्याड़ी, सूखीढांग-डांडा-मीडार, ठुलीगाड़-भैरव मंदिर, धौन-बड़ौली, स्याला-पोथ, चल्थी-नौलापानी, रौसाल-डूंगराबोरा-चकसिलकोट, डूंगराबोरा-कायल-मटियानी, बगोटी-डूंगरालेटी, बलूटा-पासम, बांकू-सुल्ला पाशम, बाराकोट-कोठेकरा और बाराकोट-मिर्तोली।

यह भी पढ़ें : Project Cheetahs Live Updates : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुनो नेशनल पार्क में आठ चीतों को छोड़ा

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories