Sunday, March 26, 2023
HomeनेशनलSupreme Court on Joshimath Case : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा जोशीमठ जमीन...

Supreme Court on Joshimath Case : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा जोशीमठ जमीन धंसने का मामला

Date:

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली (Supreme Court on Joshimath Case): उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में जमीन धंसने का मामला लगातार चर्चा में बना हुआ है। राज्य और केंद्र सरकार इस कुदरती आफत से बाहर निकलने के लिए जहां लगातार मंथन कर रही हैं। वहीं यह मामला अब सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान में पहुंच चुका है।

दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में जमीन धंसने के मामले में में तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया है। 16 जनवरी को मामले में सुनवाई होगी। मामले की सुनवाई कर रही मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पीएस नरसिम्हा की पीठ ने कहा कि सभी महत्वपूर्ण चीजों के लिए शीर्ष अदालत में आने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसे देखने के लिए लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई संस्थाएं भी हैं।

दूसरी तरफ चार धाम की यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के मन में भी संशय है कि 2023 में यह यात्रा होगी या नहीं। क्या इस साल बाबा बद्रीनाथ की दर्शन हो पाएंगे? क्योंक दरारों की वजह से चारधाम मार्ग प्रभावित हो गया है। आलम यह कि अब जोशीमठ स्थित सेना के ब्रिगेड हैडक्वाटर में कुछ बैरक में भी दरारें आ गई हैं और एहतियातन तौर पर सेना ने बैरक को खाली कर दिया है। ऐसे में भारतीय सेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से अलर्ट है। हालांकि, स्थानीय प्रशासन ने सेना को मदद के लिए अभी नहीं बुलाया है।

श्रद्धालुओं के मन में संशय

दरअसल चार धाम यात्रा का आगाज बसंत पंचमी के दिन राजमहल से बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि निकलने के बाद शुरू होता है। वहीं जोशीमठ संकट ने बद्री विशाल के द्वार पर संकट की स्थिति पैदा कर दी है, जिससे इस बार की यात्रा को लेकर लोगों के मन में चिंता बन गई है। ऐसे में व्यवस्थाओं के लिए सरकार के पास काफी कम समय रह गया है, जिस पर यात्री श्रद्धालु और संत समाज निगाहें बना कर बैठा है।

संत समाज और तीर्थ पुरोहित भी चिंतित

चार धाम यात्रा के प्रवेश द्वार ऋषिकेश में संत समाज और तीर्थ पुरोहित यात्रा के भविष्य को लेकर चिंतित है और सरकार से मांग कर रहे हैं कि जल्द ही वैकल्पिक मार्ग तैयार किया जाए, जिससे 2023 की यात्रा सुचारू हो सके। दूसरी तरफ जोशीमठ में जहां 610 घरों में दरारें पड़ गई हैं वहीं एक होटल अपने साथ वाले होटल की तरफ झुक गया है। हालांकि होटल को खाली करवा लिया गया है लेकिन यह साथ वाली बिल्डिंग के लिए भी खतरा बना हुआ है।

ये भी पढ़ें : 5 Died in Sangrur : संगरूर में दम घुटने से 5 प्रवासी मज़दूरों की मौत

ये भी पढ़ें : Terrorist attack in Pakistan : आतंकवादी हमले में पांच पुलिसकर्मी घायल

Connect With Us : Twitter, Facebook

Latest stories

Related Stories