Saturday, January 28, 2023
HomeनेशनलRBI Repo Rate Increase : आरबीआई ने दरों में किया इजाफा

RBI Repo Rate Increase : आरबीआई ने दरों में किया इजाफा

Date:

इंडिया न्यूज, Coronavirus in India LIVE Updates: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बढ़ती महंगाई से चिंतित होकर रेपो रेट में 0.50% की बढ़ौत्तरी की है। यानि रेपो रेट अब 5.40 प्रतिशत से बढ़कर 5.90 प्रतिशत हो गया है। रेट बढ़ने से अब होम लोन, आॅटो और पर्सनल लोन सभी महंगे हो सकते हैं और आपको अधिक ईएमआई भी चुकानी होगी।

आपको जानकारी दे दें कि फैसले के लिए 28 सितंबर से ही मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक चल रही थी। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ब्याज दरें बढ़ाने की घोषणा की। इससे पहले अगस्त में ब्याज दरों को 4.90% से बढ़कर 5.40% किया गया था।

ये बोले आरबीआई गवर्नर ?

आरबीआई गवर्नर (RBI Governor) ने कहा कि इस समय पूरा विशव आर्थिक संकट से जूझ रहा है, पूरी दुनिया के शेयर मार्केट में उथल-पुथल दिखाई दे रहा है। इस समय सभी सेक्टर के लिए महंगाई चिंता का विषय बना हुआ है। SDF 5.15 से बढ़ाकर 5.65% हो गया है।

रेट बढ़ने से कितना फर्क पड़ेगा

मान लीजिए एक शख्स ने 7.55% के रेट पर 20 वर्षों के लिए 30 लाख का हाउस लोन लिया है। उसकी लोन की ईएमआई 24,260 रुपए है तो 20 साल में उसे इस दर से 28,22,304 रुपए का ब्याज देना होगा। यानी उसे 30 लाख के बदले कुल 58,22,304 रुपए चुकाने होंगे।

लोन फिक्स्ड ब्याज दर पर लिया तो चिंता की जरूरत नहीं

अगर आपने फिक्स्ड रेट पर बैंक से लोन लिया है तो रेपो रेट बढ़ने से चिंता की जरूरत नहीं है। इसका असर केवल वेरिएबल दरों पर लिए गए कर्ज पर पड़ेगा। फिक्स्ड रेट पर लिए गए लोन पर आगे होने वाले उतार-चढ़ाव का असर ब्याज दरों पर नहीं होता। वहीं वेरिएबल ब्याज दरों पर लिए गए लोन में बदलाव होता रहता है।

ये भी पढ़ें : Coronavirus in India LIVE Updates : देश में आज 4000 से कम आए केस

ये भी पढ़ें : Corona Cases In Haryana : प्रदेश में आज आए 31 नए मरीज

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories