Wednesday, February 1, 2023
HomeनेशनलFirst in Class और Rotary India Literacy Mission के बीच एमओयू साइन

First in Class और Rotary India Literacy Mission के बीच एमओयू साइन

Date:

First in Class और Rotary India Literacy Mission के बीच एमओयू साइन

इंडिया न्यूज, हैदराबाद।
फर्स्ट इन क्लास एडुटेक प्लेटफॉर्म (First in Class Edutech Platform) और रोटरी इंडिया लिटरेसी मिशन (Rotary India Literacy Mission) ने देश और दुनिया में सबसे बड़े फ्री ऑफ कॉस्ट एडुटेक इनिशिएटिव के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। आजादी के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में देश में मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर को चिह्नित करते हुए आरआईएलएम (RILM) के अध्यक्ष कमल सांघवी और आईटीवी नेटवर्क के संस्थापक कार्तिकेय शर्मा के बीच हैदराबाद में आयोजित रोटरी इंटरनेशनल प्रेसिडेंशियल कॉन्फ्रेंस इंडिया 2022 के दौरान एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

इतने टैबलेट पीसी दिए जाएंगे निशुल्क

एमओयू के तहत की पहल के हिस्से के रूप में 1,00,000 टैबलेट पीसी फर्स्ट इन क्लास द्वारा निशुल्क दिए जाएंगे। सभी टैबलेट पूरी तरह कार्यात्मक ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म के साथ लोड किए जाएंगे। फर्स्ट इन क्लास सीबीएसई-एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के अनुरूप 12 उच्च गुणवत्ता वाली क्यूरेटेड सामग्री भी प्रदान करेगा, जो समावेश, पहुंच और मातृभाषा सीखने की सुविधा के लिए हिंदी, तमिल, अंग्रेजी, बंगाली, कन्नड़, पंजाबी और 6 अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होगी।

इतने अधिक घंटों की आडियो-विजुअल और ग्राफिकल इंटरफेस सामग्री

समझौते के तहत 10,000 घंटे से अधिक की ऑडियो-विजुअल और ग्राफिकल इंटरफेस सामग्री पाठ्यक्रम पुस्तकालयों का हिस्सा होगी। इसे इंटरएक्टिव टेस्टिंग और असेसमेंट नोड्यूल्स से जोड़ा जाएगा। कोर्सवर्क को लाइव-टीचिंग के साथ सुगम बनाया जाएगा और माता-पिता को अपने बच्चों की प्रगति को ट्रैक करने के लिए उपयोगकर्ता-इंटरफेस के अनुकूल प्रारूप में एक विशेष निरंतर समीक्षा डेक प्रदान किया जाएगा। फर्स्ट इन क्लास प्लेटफॉर्म उच्च शिक्षा के लिए यूपीएससी, लॉ एंड इंजीनियरिंग में प्रवेश परीक्षा मॉड्यूल और विशेषज्ञता के साथ सांस्कृतिक शिक्षा, भाषा सीखने, भाषाई प्रशिक्षण और आध्यात्मिक सीखने के मॉड्यूल प्रदान करेगा।

सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविदों द्वारा संरचित और क्यूरेट किया गया है पाठ्यक्रम : कार्तिकेय शर्मा

कार्तिकेय शर्मा, संस्थापक, आईटीवी नेटवर्क ने कहा कि पाठ्यक्रम सीबीएसई एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के अनुरूप देश के कुछ सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविदों द्वारा संरचित और क्यूरेट किया गया है। उन्होंने कहा यह महत्वपूर्ण रूप से समावेशिता और मातृभाषा सीखने को सुनिश्चित करने के लिए हिंदी, अंग्रेजी और कई क्षेत्रीय भाषाओं में पेश किया जा रहा है। यह सब छात्रों को समग्र शिक्षा से लाभ सुनिश्चित करने के लिए नवीनतम शैक्षणिक तकनीकों का उपयोग कर सामग्री बनाने के लिए वर्षों से किए गए शोध और कड़ी मेहनत का फल है।

यह भी पढ़ें: देश में आज 3688 केस, चिंता बढ़ी

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories