Thursday, February 2, 2023
HomeनेशनलBreach in Shah's security : 13 दिन बाद फिर शाह की सुरक्षा...

Breach in Shah’s security : 13 दिन बाद फिर शाह की सुरक्षा में सेंध

Date:

इंडिया न्यूज, Hyderabad News (Breach in Shah’s security) : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) की सुरक्षा में चूक के कई मामले सामने आ रहे हैं। 13 दिन पहले ही उनकी सुरक्षा में सेंध का मामला सामने आया था। मात्र 13 दिनों बाद ही तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के सिकंदराबाद इलाके में फिर यह घटना हुई।

बता दें कि आज केंद्रीय गृह मंत्री हैदराबाद मुक्ति दिवस में भाग लेने के लिए तेलंगाना के दौरे पर हैं और इस बीच उनके काफिले के आगे टीआरएस नेता गोसुला श्रीनिवास ने अपनी कार आगे लगा दी। हालांकि गृह मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने कार को रास्ते से तुरंत हटवा दिया।

ये बोला कार मालिक

Breach in Shah's security
Breach in Shah’s security

श्रीनिवास ने कहा कि उनकी कार अचानक गृह मंत्री के काफिले के आगे रुक गई थी और जब तक वह कुछ समझ पात तब तक गृह मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने उनकी कार में तोड़-फोड़ कर डाली जिसके लिए मैंं पुलिस अधिकारियों से मिलूंगा और मामले में उनसे कार्रवाई करने के लिए कहूंगा। श्रीनिवास ने यह भी कहा कि मैं कार रुकने के बाद टेंशन में था, पर अधिकारियों ने न आव देखा और न ताव, कार का पीछे का कांच तोड़ दिया।

Breach in Shah's security
Breach in Shah’s security

मुंबई दौरे के दौरान इसी महीने हुई थी वारदात

मालूम रहे कि इसी महीने 4 और 5 सितंबर को महाराष्ट्र दौरे के दौरान भी शाह की सुरक्षा में चूक हो गई थी। जिसमें एक संदिग्ध कई घंटों शाह के इर्द-गिर्द घूमता रहा। अधिकारियों को जब अंदेशा हुआ तो उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने उसे फिर गिरफ्तार किया।

सिकंदराबाद आर्मी मैदान में टीआरएस पर साधा निशाना

आज तेलंगाना दौरे के दौरान शाह ने पहले सिकंदराबाद के आर्मी मैदान में रैली को संबोधित कर टीआरएस पर निशाना साधा। गृह मंत्री ने कहा कि भारत को आजादी 1947 में मिल गई थी, लेकिन हैदराबाद पर आज भी निजामों का राज है। हैदराबाद मुक्ति दिवस कार्यक्रम में अमित शाह के साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे भी मौजूद थे।

जानिए गृह मंत्री की सुरक्षा में रहते हैं इतने कमांडो

आपको जानकारी यह भी दे दें कि अमित शाह 2019 में गृह मंत्री बने और उसके बाद उनकी सुरक्षा को बढ़ा दिया गया था। उन्हें जेड+ सिक्योरिटी व ब्रीफकेस बैलिस्टिक शील्ड का कवर दिया हुआ है। यह एक पोर्टेबल बुलेट प्रूफ शील्ड अथवा पोर्टेबल फोल्ड आउट बैलिस्टिक शील्ड होती है, जिसे हमले के दौरान खोला जा सकता है। जेड+ सिक्योरिटी के तहत अमित शाह के साथ हमेशा 24 से 30 कमांडो रहते हैं।

यह भी पढ़ें : Project Cheetahs Live Updates : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुनो नेशनल पार्क में आठ चीतों को छोड़ा

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories