Saturday, January 28, 2023
Homeकाम की बातPanch Tulsi : जानिए क्या है पंच तुलसी और इससे क्या लाभ...

Panch Tulsi : जानिए क्या है पंच तुलसी और इससे क्या लाभ मिलते हैं

Date:

इंडिया न्यूज़, Panch Tulsi: तुलसी को हमारे देश में पूजनीय माना जाता है। भारत के हर घर में हमे तुलसी मिल जाती है, इसे आयुर्वेद में भी विशेष स्थान प्राप्त है। तुलसी का इस्तेमाल बहुत सी बीमारियों के इलाज में किया जाता है आज हम आपको पंच तुलसी के बारे में बताने जा रहे हैं आइए जानते है :-

तुलसी मुख्यतः रूप से पांच प्रकार की पायी जाती है

श्याम तुलसी,
राम तुलसी,
श्वेत/विष्णु तुलसी,
वन तुलसी और
नींबू तुलसी।

इन पांच प्रकार की तुलसी का अर्क निकाल कर पंचतुलसी का निर्माण किया जाता है।

किन रोगों में लाभदायक

(1). पंच तुलसी अर्क के एक बून्द एक ग्लास पानी में या दो बून्द एक लीटर पानी में डाल कर पांच मिनट के बाद उस जल को पीना चाहिए। इससे पेयजल विष और रोगाणुओं से मुक्त होकर स्वास्थवर्धक पेय हो जाता है।

(2). पंच तुलसी अर्क 200 से अधिक रोगो में लाभदायक है जैसे के फ्लू, स्वाइन फ्लू, डेंगू, जुखाम, खासी, प्लेग, मलेरिया, जोड़ो का दर्द, मोटापा, ब्लड प्रेशर, शुगर, एलर्जी, पेट के कीड़ो, हेपेटाइटिस, जलन, मूत्र सम्बन्धी रोग, गठिया, दमा, मरोड़, बवासीर, अतिसार, दाद, खाज, खुजली, सर दर्द, पायरिया, नकसीर, फेफड़ो सूजन, अल्सर, हार्ट ब्लोकेज आदि।

(3). दांत का दर्द, दांत में कीड़ा लगना, मसूड़ों में खून आना आदि में पंचतुलसी की 4–5 बूँदे पानी में डालकर कुल्ला करने से तुरन्त आराम मिलता है।

(4). पंच तुलसी स्मरण शक्ति को बढ़ाता है और साथ ही साथ शरीर के लाल रक्त सेल्स (Haemoglobin) को बढ़ने में अत्यंत सहायक है।

(5). पंच तुलसी भोजन के बाद एक बूँद सेवन करने से पेट सम्बन्धी बीमारियां बहुत काम लगाती है।

(6). पंच तुलसी के 4–5 बूँदे पीने से महिलाओ को गर्भावस्था में बार बार होने वाली उलटी के शिकायत ठीक हो जाती है।

(7). आग के जलने व किसी जहरीले कीड़े के कांटने से पंच तुलसी को लगाने से विशेष रहत मिलती है।

(8). दमा व खाँसी में पंच तुलसी अर्क की दो बुँदे थोड़े से अदरक के रस और शहद के साथ मिलाकर सुबह– दोपहर– शाम सेवन करे।

(9). यदि मुँह में से किसी प्रकार की दुर्गन्ध आती हो तो पंच तुलसी की एक बूँद मुँह में डाल ले दुर्गन्ध तुरंत दूर हो जाएगी।

(10).पंच तुलसी एक बेहतरीन विष नाशक है और शरीर से विष (toxins) को बाहर निकालती है।

(11). सर दर्द, बालो का झड़ना बाल सफ़ेद होना व सिकरी आदि समस्याओं में पंचतुलसी की 8–10 बूंदे हर्बल हेयर आयल के साथ मिलाकर सर, माथे तथा कनपटियों पर लगाये।

(12). पंच तुलसी के 8–10 बूँदे नारियल तेल में मिलाकर शरीर पर मलकर रात्रि में सोये , मच्छर नहीं काटेंगे।

(13). कूलर के पानी में पंचतुलसी की 8–10 बूँदे डालने से सारा घर विषाणु और रोगाणु से मुक्त हो जाता है तथा मक्खी, मच्छर भी घर से भाग जाते है।

(14). पंचतुलसी में सुन्दर और निरोग बनाने की शक्ति है। यह त्वचा का कायाकल्प कर देती है। यह शरीर के खून को साफ करके शरीर को चमकीला बनती है।

(15). पंचतुलसी को एलोवेरा जेल में मिला कर लगाने से प्रसव के बाद पेट पर बनने वाले लाइने (स्ट्रेच मार्क्स) दूर हो जाते है।

(16). पंचतुलसी के नियमित उपयोग से कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होने लगता है, रक्त के थक्के जमने कम हो जाते है व हार्ट अटैक और कोलैस्ट्रोल की रोकथाम हो जाती है।

(17). पंचतुलसी की दो बूँदे एलोवेरा जैल में मिलाकर चेहरे पर सुबह व रात को सोते समय लगाने पर त्वचा सुन्दर व कोमल हो जाती है तथा चेहरे से प्रत्येक प्रकार के काले धेरे, झाइयां, कील मुँहासे व झुरिया नष्ट हो जाती है।

यह भी पढ़ें :  Disadvantages Of Drinking Tea : खाली पेट चाय पीना है बन सकता है बीमारियों की वजह

Connect With Us : Twitter, Facebook

Latest stories

Related Stories