Saturday, January 28, 2023
Homeकाम की बातFood That Cures Diseases : तीन चीजों का सेवन रखेगा आपको इन...

Food That Cures Diseases : तीन चीजों का सेवन रखेगा आपको इन खतरनाक बिमारियों से दूर

Date:

इंडिया न्यूज़, Food That Cures Diseases : हम सभी स्वस्थ रहना चाहते हैं। निरोगी काया हरेक व्यक्ति की इच्छा होती है, इसके लिए हमे अपने खाने-पीने का ध्यान रखना चाहिए । हम अपनी डाइट में कुछ चीजों को शामिल कर अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं । आज हम आपको बताएंगे की आपको कभी भी हार्ट फेल ना हो, कभी भी ब्लड प्रेशर बढ़ने की दिक्कत ना आये तो आप नियमित रूप से इन तीन चीजो का सेवन करे:-

आइये जाने कौन सी हैं वो तीन चीजें, जो हैं हृदय के लिए अमृत समान..!

1. आंवला

आंवला

आंवले का सेवन हमारे दिल को स्वस्थ रखता है । आयुर्वेद के अनुसाल आंवला एक ऐसा फल है जो बूढ़े व्यक्ति को भी जवान बना सकता है। आंवला में भरपूर मात्रा में विटामिन ‘सी’और एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके अलावा आंवले में पोटेशियम ,कार्बोहाइड्रेट ,फाइबर ,प्रोटीन्स ,विटामिन्स ‘ए’, बी काम्प्लेक्स ,मैग्नीशियम, आयरन होता है जो शरीर की कई प्रकार के रोगों से रक्षा करते हैं।

आंवले की एक सबसे खास बात ये होती है कि आंवले को किसी भी तरह उबालकर, सुखाकर या पीसकर इस्तेमाल करने पर भी इसके पोषक तत्व नष्ट नहीं होते हैं। आयुपर्यन्त खाते रहने से अचानक हृदयगति रुकने की संभावना नही रहती और न उच्च रक्तचाप का रोग होता है।

2. मोसम्मी और निम्बू

मोसम्मी और निम्बू

खट्टे फलों में ऐसे एंजाइम्स पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया को तेज करके कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक होते हैं। नींबू में मौजूद घुलनशील फाइबर खाने की थैली से बेकार कोलेस्ट्रॉल को रक्त प्रवाह में जाने से रोक देते हैं। इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी रक्तवाहिका नलियों की सफाई करता है। मोसम्मी के नित्य सेवन अथवा निम्बू के नियन्त्रित सेवन से भी हार्ट-फेल का भय नही रहता, क्योंकि इससे रक्तवाहिनियों में कोलेस्ट्रोल जमा नही होने पता।

3. लहसुन

GRALIC

दिल का दौरा पड़ते ही लहसुन की चार कलियों को तुरंत चबा लेने से ह्रदय फेल नही होगा। दौरा समाप्त हो जाने के बाद नित्य कुछ दिन तक लहसुन की दो कलियों दूध में उबालकर लें। लहसुन लीवर द्वारा अत्यधिक मात्रा में एलडीएल कोलेस्ट्राल बनने को रोकता है।

अनेक आधुनिक शोध ये भी दर्शाती हैं कि लहसुन उच्च रक्त चाप को सामान्य करने में मदद करता है और रक्त की प्लेटलेट्स की चिकनाई कम करके रक्त के थक्के बनने की प्रक्रिया को रोकता है यानि हॄदयाघात होने की संभावनाओं को कम करता है। प्लेटलेट्स की चिकनाई ज्यादा होने पर वे आपस में मिलकर थक्का बनाने का कार्य प्रारंभ कर देते हैं जो धमनियों में एकत्र होकर हृदयाघात की संभावनाओं को बढा देते हैं।

यह भी पढ़ें : Food For Winter : सर्दियों में बॉडी को गर्माहट देने के लिए खाएं ये हेल्थी फ़ूड

यह भी पढ़ें : Husband Wife Relationship : जानिए क्या पति पत्नी का अलग सोना हो सकता है फायदेमंद

Connect With Us : Twitter, Facebook 

 

Latest stories

Related Stories