Friday, February 3, 2023
Homeकाम की बातकोरोना संक्रमित और पेट से जुडी अन्य समस्याओं में कैसे समझे फर्क

कोरोना संक्रमित और पेट से जुडी अन्य समस्याओं में कैसे समझे फर्क

Date:

कोरोना संक्रमित और पेट से जुडी अन्य समस्याओं में कैसे समझे फर्क

इंडिया न्यूज़, अम्बाला

COVID-19 : कोरोना वायरस (Corona Virus) ऐसा संक्रमण है जिसके संपर्क में आने के कई तरह के लक्षणों साथ लेकर हमारे शरीर में प्रवेश करता है। इसके कारण हमारे शरीर में अन्य कई प्रकार की दूसरी बीमारियों के लक्षण भी देखे जाते हैं। जिसकी वजह से इनमें फर्क समझना मुश्किल हो जाता है। कोरोना की चपेट में आने के बाद इसका असर सबसे पहले मरीज के श्वसन तंत्र पर प्रभाव डालता है और इसके बाद शरीर के अन्य दूसरे अंगों पर अटैक करता है। यह तब होता है जब लोग गैर-श्वसन पथ से संबंधित लक्षणों के बारे में अनुभव नही कर पाते। करते हैं।

कोरोना संक्रमित की चपेट में आने के बाद हर 5 में से एक मरीज को गैस्ट्रो संबंधित लक्षणों से जूझ रहा है। एक रिसर्च के अनुसार पता चला है की कोरोना संक्रमित व्यक्ति उल्टी, पेट दर्द और दस्त जैसी बीमारीयों से जुझता है। कोरोना की तीसरी लहर के दौरान गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से जुड़ी परेशानियोें का ज्यादा सामना करना पड़ा है। कुछ लोगों ने इन सभी के पीछे का कारण ओमिक्रोन को बताया है। जबकि एक्सपर्ट्स का कहना था कि कोविड और पेट से जुड़ा इंफेक्शन शुरू से था।

कोरोना की वजह से पेट में दर्द की समस्या

COVID-19

कोरोना की वजह से पेट में दर्द और अन्य वजह से पेट में दर्द होना इन दोनों में कई तरह का फर्क देखा जा सकता है। कोरोना की वजह से अगर पेट में दर्द होता है तो उस व्यक्ति को उसके साथ साथ बुखार भी आ जाता है। अगर कोरोना के कारण ऐसा होता है तो बुखार आने की संभावना रहती है। अगर आपकों पेट में दर्द के साथ सांस लेने में परेशानी हो रही है और खांसी जुकाम भी हो रहा है तो आपका कोरोना टेस्ट जरूर करवाना चाहिए।

अगर पेट में दर्द की वजह कोरोना है तो लोग सुगंध और किसी चीज के स्वाद को महसूस नही कर पाओगे। क्योंकी अगर आम तरीके से पेट में दर्द है तो सुगंध और स्वाद को महसूस कर सकते है। आपका पेट दर्द कोरोना से संबंधित है, इसका एक और स्पष्ट संकेत यह है कि कोरोना की वजह से लक्षण अन्य बीमारियों की तुलना में अधिक लगातार आते रहते हैं।

कोरोना का गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल से क्या संबंध है?

कोरोना किसी व्यक्ति के जठरांत्र पर किस तरह प्रभाव ड़ाल सकता है इसके बारे में अभी कुछ जानकारी नही मिल पाई है। कोविड का कारण बनने वाला कोरोना वायरस रिसेप्टर एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम 2 (अउए2) है, जिसकी इस वायरस के लिए बाध्यकारी आत्मीयता इस परिवार के अन्य वायरस की तुलना में 10-20 गुना अधिक है।

कोरोना से जुड़े दूसरे लक्षण

कोरोना पॉजटिव के दूसरे लक्षणों में बुखार, सिर दर्द, थकावट, खांसी, गले में खराश, मांसपेशियों और हड्डीयों में दर्द होने लगता है। यदी अलावा अगर बोलने या चलने में परेशानी या सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ या फिर सांस फूलने जैसी परेशानियां होने लगती है तो आपको फौरन डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(COVID-19)

ये भी पढ़े : गंभीर बिमारियों को दूर करता है अखरोट

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories