Thursday, September 29, 2022
Homeहरियाणाकर्मचारी महासंघ ने क्यू लगाऐं सरकार विरोधी ?

कर्मचारी महासंघ ने क्यू लगाऐं सरकार विरोधी ?

Date:

कनीना/ उमादित कौशिक

कनीना पावर हाउस में आज हरियाणा कर्मचारियों की बैठक हुई जिसमें एनपीएस का मुद्दा छाया रहा वही केंद्र सरकार द्वारा पुरानी पेंशन खत्म करने पर हरियाणा कर्मचारी महासंघ ने सरकार विरोधी नारे लगा कर जताया विरोध| कर्मचारी महासंघ के पूर्व प्रधान कंवर सिंह यादव ने बताया कि प्रदेश और केंद्र सरकार का जो फैसला पुरानी पेंशन खत्म करने का लिया गया था। उसका पूरे देश में विरोध हो रहा है।

कनीना मे केंद्र सरकार द्वारा पुरानी पेंशन खत्म करने पर हरियाणा कर्मचारी महासंघ ने सरकार विरोधी नारे लगा कर विरोध जताया| हरियाणा कर्मचारी महासंघ पूर्व प्रधान कंवर सिंह यादव ने बताया कि प्रदेश और केंद्र सरकार का जो फैसला पुरानी पेंशन खत्म करने का लिया गया था। उसका पूरे देश में विरोध हो रहा है, और उसके कारण जो कर्मचारी अपनी जान गवाता है। उसके आश्रितो को पैसा नहीं मिलता और सहारा नहीं मिलता है। हमारी यह मांग है कि पुरानी पेंशन को लागू किया जाए पूरे प्रदेश में आज इसके लिए ज्ञापन भी दिए जा रहे हैं, और इसके लिए जहां भी आंदोलन होंगे मैं वहां खड़ा मिलूंगा।

महावीर पहलवान ने बताया कि पुरानी पेंशन के लिए हमने पूरे प्रदेश में एक आंदोलन की रूपरेखा तैयार की है पुरानी पेंशन के लिए एक कमेटी पहले से ही बनी हुई है उसके साथ एचएसईबी वर्कर यूनियन यानी कि हरियाणा कर्मचारी महासंघ पुर जोर उनके साथ अलग करके और पुरानी पेंशन को बहाल करवाने के लिए विधायकों और सांसदों को ज्ञापन दे रही है और इसी के साथ साथ एचसीसीबी वर्कर यूनियन ने भी अपनी रूपरेखा तैयार करके पुरानी पेंशन स्कीम में हम जल्द ही पूरे प्रदेश में ज्ञापन देने का कार्य करने जा रहे हैं।

 

 

हरियाणा कर्मचारी महासंघ यूनिट प्रधान सतीश लाम्बा ने बताया कि पुरानी कर्मचारी पेंशन जो 2006 के बाद सरकार ने बंद कर रखी है। उनके कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाए बड़ा दुर्भाग्य है। हम जिस देश में रहते हैं, यहां पर दो तरह की बातें हो रही है। राजनेता अपने लिए पेंशन और भत्ते बढ़ाते रहते हैं, परंतु कर्मचारी के लिए 58 साल तक सर्विस करने के बावजूद भी पेंशन नहीं मिल पा रही है। दुर्भाग्यवश कर्मचारी अपनी पेंशन के लिए परेशान है, और यह राज नेता इसमें कुछ भी संज्ञान नहीं ले रहे हैं।

Latest stories

Related Stories