Thursday, December 8, 2022
Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रInternational Gita Festival 2022 : ताऊ बलजीत की देशी घी की जलेबी...

International Gita Festival 2022 : ताऊ बलजीत की देशी घी की जलेबी महोत्सव में घोल रही अपनेपन की मिठास

Date:

  • पर्यटकों की मांग को पूरा करने के लिए ताऊ बलजीत ने महोत्सव में लगाए 2 स्टॉल

  • पर्यटकों का स्नेह हर बार खींच लाता है ब्रह्मसरोवर के पावन तट पर

इशिका ठाकुर, Haryana (International Gita Festival 2022) : गांव गोहाना से ताऊ बलजीत की देसी घी वाली जलेबी महोत्सव में अपनेपन की मिठास को घोलने का काम कर रही है। इस महोत्सव में आने वाले पर्यटक अपने आप ही ताऊ बलजीत के जलेबी के स्टॉल की तरफ खींचे चले आते हैं। देसी घी में तैयार की जाने वाली इस जलेबी की सौंधी-सौंधी खुशबू से बच्चे, युवा और बुजुर्ग भी अपने आपको जलेबी को खाने से रोक नहीं पाते। अहम पहलू यह है कि पर्यटकों की मांग को पूरा करने के लिए ताऊ बलजीत ने महोत्सव के दोनों तरफ 2 स्टॉल स्थापित किए हैं।

सोनीपत के गांव गोहाना निवासी ताऊ बलजीत ने बातचीत करते हुए बताया कि पिछले 9 सालों से कुरुक्षेत्र गीता महोत्सव में पर्यटकों के स्वाद को बढ़ाने के लिए गोहाना की प्रसिद्ध जलेबियों को लेकर आ रहे हैं और इस बार वे अंतरराष्ट्रीय महोत्सव में स्टॉल नंबर 819 व 254 पर लोगों के लिए देसी घी की जलेबियां लेकर आए हैं। इस वर्ष एक किलो जलेबी का दाम 320 रुपए रखा गया है। एक जलेबी का वजन 250 ग्राम है।

देशी ही नहीं, विदेशी भी स्वाद चख रहे

उन्होंने कहा कि यहां आकर उन्हें सकून मिलता है और पर्यटकों को स्वादिष्ठ जलेबी खिलाकर मन को भी संतुष्टि मिलती है, इसलिए पर्यटकों के स्वाद का विशेष ध्यान रखा जाता है। उन्होंने कहा कि देसी घी वाली जलेबियों का अंतरराष्ट्रीय महोत्सव में पर्यटक और शहरवासी भी काफी बेसब्री से इंतजार करते हैं।

वे करीब 4 दशकों से जलेबी बनाने का काम कर रहे हैं। इन वर्षों में उनकी जलेबी के चाहवानों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। महोत्सव में आने वाले विदेशी पर्यटक भी उनकी जलेबी के कद्रदान हैं और बड़े चाव के साथ जलेबी के स्वाद को चखने के लिए उनके स्टॉल पर पहुंचते हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन और केडीबी द्वारा उन्हें हर बार पूरा सहयोग मिलता है। प्रशासन द्वारा महोत्सव के दौरान सुरक्षा के साथ-साथ अन्य सभी पुख्ता प्रबंध किए गए है।

यह भी पढ़ें : India Coronavirus Live Updates : देश में काफी समय बाद केस 300 से नीचे

यह भी पढ़ें : International Gita Festival 2022 : हरियाणवी और पंजाबी लोक नृत्यों पर झूम उठे पर्यटक

यह भी पढ़ें : International Gita Mahotsav 2022 : राज्य परिवहन की बसों में लगेगा केवल 50% किराया : मूलचंद

Connect With Us : Twitter, Facebook

Latest stories

Related Stories