Tuesday, December 6, 2022
Homeहरियाणाजींद में राकेश टिकैत बोले- बाहरी आदमी को न दें चंदा

जींद में राकेश टिकैत बोले- बाहरी आदमी को न दें चंदा

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News:
गुलकनी गांव में नौगामा खाप ने किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले जिले के किसानों को श्रद्धांजलि दी। गांव के बस अड्डे पर स्मारक भी बनाया गया। इस दौरान जींद पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत और रतन मान ने शिरकत की। इसके अलावा राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा भी कार्यक्रम में पहुंचे।

राकेश टिकैत ने कहा कि आप जो चंदा एकत्रित करते हैं। इसके लिए गांव में एक कमेटी बनाई जाए और बाहरी आदमी को चंदा बिल्कुल न दिया जाए। उन्होंने कहा कि किसानों की आवाज बुलंद करने के लिए गांवों में कमेटियां बनाई जाएं। अपनी खापों को और भी मजबूत करें। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान पंजाब के लोगों की ओर से और गुरुद्वारा प्रबंधनों ने जो व्यवस्था की, वह काबिले तारीफ थी। इसके चलते ही किसान लंबा आंदोलन चला पाए।

किसान आंदोलन में हरियाणा और खापों का विशेष योगदान

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने इस दौरान कहा कि किसान आंदोलन में हरियाणा और खापों का काफी योगदान रहा है जिसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। उन्हीं की बदौलत किसानों की जीत हुई। हरियाणा के युवा क्रांतिकारी हैं और यहां के लोग अब शांतिपूर्वक आंदोलन करना सीख गए हैं।

शहीद किसानों के नाम पर रखेंगे सड़क और स्कूल का नाम

युवा किसान नेता अभिमन्यु कोहाड़ ने कहा कि हमें इन किसानों से प्रेरणा लेने की जरूरत है। इन्होंने हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए कुर्बानियां दी हैं। इस सरकार द्वारा आरएसएस के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर सड़कों और स्कूलों के नाम रखे जा रहे हैं।

उनकी मांग है कि अगर किसी स्कूल, इमारत या सड़क का नाम रखना है तो किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के नाम पर रखा जाए। उन्होंने बेंगलूरू में राकेश टिकैत के ऊपर हुए हमले पर कहा कि यह हमला केवल उन पर नहीं पूरे किसान समाज पर हुआ है। इसके लिए वह कोई भी कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटेंगे। वहीं इस दौरान उन्होंने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या को निंदनीय बताया।

यह भी पढ़ें: खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 की सभी तैयारियां पूरी, 250 करोड़ की आएगी लागत

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories