Friday, February 3, 2023
HomeहरियाणाKharif Crops : हरियाणा में खरीफ फसलों की खरीद 1 अक्टूबर से...

Kharif Crops : हरियाणा में खरीफ फसलों की खरीद 1 अक्टूबर से होगी शुरू

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News (Kharif crop): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (CM Manohar Lal) ने कहा कि एक अक्टूबर से शुरू होने वाली खरीफ फसलों की खरीद के दौरान प्रदेश के किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। फसलों की सुगम खरीद सुनिश्चित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री खरीफ फसलों की खरीद को लेकर आला अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल भी उपस्थित थे। विपणन सत्र 2022-23 के दौरान धान, बाजरा, मक्का, मूंग, सूरजमुखी, मूंगफली, तिल, अरहर और उड़द आदि फसलों की खरीद की जाएगी। इसके लिए मंडियों की पर्याप्त व्यवस्था कर ली गई है।

Kharif Crops खरीद के सभी प्रबंध सुनिश्चत करें अधिकारी

सीएम मनोहर लाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मंडियों में खरीद से जुड़े सभी प्रबंध सुनिश्चित किये जाए, ताकि फसल बेचने आने वाले किसानों को कोई असुविधा का सामना न करना पड़े। फसलों की समयबद्ध तरीके से खरीद, उसकी स्टोरेज तथा मंडियों में बारदाने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी फसल-मेरा ब्योरा पोर्टल को पुन: 24 सितंबर तक पंजीकरण के लिए खोल दिया गया है। उन्होंने किसानों से कहा कि जिन्होंने अभी तक अपना पंजीकरण नहीं करवाया है, वे इन 3 दिनों में अपना पंजीकरण करवा लें।

मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि 2 दिन के भीतर ई- गिरदावरी के डाटा के सत्यापन में जो त्रुटियां हैं, उसे कृषि विभाग, हरसैक के डाटा के साथ मिलान कर उस डाटा को जिला उपायुक्त के माध्यम से सीआरओ को भिजवाना सुनिश्चित करें। साथ ही सीआरओ को भी निर्देश दिया जाए कि वह अगले 3 दिनों में इस डाटा को ठीक करके उसे पोर्टल पर दर्ज करना सुनिश्चित करें।

मंडियों में पहले की तरह हेल्प डेस्क स्थापित होगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडियों में पहले की भांति हेल्प डेस्क भी स्थापित होगा ताकि किसी भी किसान को कोई दिक्कत न आए। इस हेल्प डेस्क पर मार्केटिंग बोर्ड, कृषि व संबंधित विभाग के अधिकारी तैनात होंगे। हेल्प डेस्क पर किसानों की शिकायतों का भी निवारण किया जाएगा।

बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुमिता मिश्रा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी उमाशंकर, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के आयुक्त एवं सचिव पंकज अग्रवाल, कृषि विभाग के महानिदेशक हरदीप सिंह और मुख्यमंत्री के उप प्रधान सचिव के मकरंद पांडुरंग सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें : India Corona Update Today : देश में आज फिर 5 हजार के पार केस

ये भी पढ़ें : सांसद कार्तिक शर्मा ने बाबा कालिदास स्वामी कृष्णानंद से लिया आशीर्वाद

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories