Wednesday, February 1, 2023
HomeहरियाणाKharif Crops : हरियाणा में खरीफ फसलों की खरीद 1 अक्टूबर से...

Kharif Crops : हरियाणा में खरीफ फसलों की खरीद 1 अक्टूबर से होगी शुरू

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News (Kharif Crops) : हरियाणा में खरीफ फसलों (Kharif Crops) की खरीद 1 अक्टूबर, 2022 से की प्रारंभ होगी। इस दौरान मूंग, मूंगफली, अरहर, उड़द और तिल की खरीद होगी। फसलों की खरीद के लिए प्रदेश में 100 से अधिक मंडियों की व्यवस्था की गई है।

इस संबंध में मुख्य सचिव संजीव कौशल (Chief Secretary Sanjeev Kaushal) ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विपणन सत्र-2022-23 के दौरान खरीफ फसलों की खरीद के लिए पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने में कोई परेशानी न हो। मुख्य सचिव यहां विपणन सत्र के दौरान खरीफ फसलों की खरीद के संबंध में तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

फसलों की समयबद्ध तरीके से खरीद की जाए

संजीव कौशल ने निर्देश देते हुए कहा कि फसलों की समयबद्ध तरीके से खरीद, उसकी स्टोरेज तथा मंडियों में गनी बैग्स की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए ताकि खरीद प्रक्रिया के दौरान किसी प्रकार की समस्या न आए।

मूंग की खरीद 1 अक्टूबर से 15 नवंबर तक रहेगी

बैठक में बताया गया कि विपणन सत्र 2022-23 के दौरान मूंग की खरीद 1 अक्टूबर से शुरू होगी और यह 15 नवंबर, 2022 तक जारी रहेगी। मूंगफली की खरीद 1 नवंबर से 31 दिसंबर, 2022 तक की जाएगी। इसके अलावा, अरहर, उड़द और तिल की खरीद 1 दिसंबर से शुरू होगी और 31 दिसंबर, 2022 तक जारी रहेगी। खरीफ फसलों की खरीद भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर की जाएगी।

खरीफ फसलों की निर्बाध खरीद के लिए 100 से अधिक मंडियों की व्यवस्था

बैठक में बताया गया कि खरीफ फसलों की निर्बाध खरीद सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त संख्या में मंडियों की व्यवस्था की गई है। मूंग की खरीद के लिए 16 जिलों में 38 मंडियां, अरहर की खरीद के लिए 18 जिलों में 22 मंडियां, उड़द की खरीद के लिए 7 जिलों में 10 मंडियां, मूंगफली की खरीद के लिए 3 जिलों में 7 मंडियां तथा तिल की खरीद के लिए 21 जिलों में 27 मंडियां खोली गई हैं।

मूंग की 41,850 मीट्रिक टन उत्पादन की संभावना

बैठक में बताया गया कि इस वर्ष मूंग की 41,850 मीट्रिक टन उत्पादन की संभावना है। इसी प्रकार अरहर की 1044 मीट्रिक टन, उड़द का 364 मीट्रिक टन, तिल का 425 मीट्रिक टन तथा मूंगफली का 10,011 मीट्रिक टन उत्पादन होने की संभावना है।

बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुमिता मिश्रा, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के आयुक्त एवं सचिव पंकज अग्रवाल, कृषि विभाग के महानिदेशक हरदीप सिंह, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के मुख्य प्रशासक सुजान सिंह, हरियाणा राज्य भंडारण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक डॉ. शालीन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें : Nagaur Court Firing : हरियाणा के गैंगस्टर को नागौर कोर्ट परिसर में गोलियों से भूना

यह भी पढ़ें : Chandigarh University Viral Video Case : आश्वासन मिलने पर विद्यार्थियों का धरना समाप्त, 6 दिन रहेगा नॉन टीचिंग डे

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories