Thursday, December 8, 2022
HomeहरियाणाMeeting of Forum of Regulators : हरियाणा ने बिजली क्षेत्र में किया...

Meeting of Forum of Regulators : हरियाणा ने बिजली क्षेत्र में किया उल्लेखनीय कार्य : मुख्यमंत्री

Date:

  • मुख्यमंत्री ने फोर्म ऑफ रेगुलेटर्स की 83वीं बैठक में बतौर मुख्य अतिथि की शिरकत

इंडिया न्यूज, Haryana (Sapna Chaudhary New Song) : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (CM Manohar Lal) ने यहां हरियाणा विद्युत नियामक आयोग द्वारा आयोजित विनियामक मंच (फोर्म ऑफ रेगुलेटर्स) की 83वीं बैठक में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।

इस अवसर पर अन्य राज्यों से आए हुए विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्षों व सदस्यों को मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 8 वर्षों में हरियाणा ने बिजली के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया है, जिसकी बदौलत आज हरियाणा बिजली के मामले में देशभर में अग्रणी राज्यों में शामिल हुआ है।

2016 में कुरुक्षेत्र से शुरू की गई थी ‘म्हारा गांव- जगमग गांव’ योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव को 24 घंटे बिजली प्रदान करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने वर्ष 2016 में कुरुक्षेत्र से म्हारा गांव- जगमग गांव योजना की शुरुआत की थी। आज राज्य में 5680 गांवों लगभग 80 प्रतिशत गांवों को 24 घंटे बिजली मिल रही है।

Meeting of Forum of Regulators
Meeting of Forum of Regulators

फ्री इलेक्ट्रिसिटी इज नो इलेक्ट्रिसिटी

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ प्रांतों में फ्री बिजली देने की शुरुआत हुई है, लेकिन हमने इस अवधारणा को नकारा है, क्योंकि फ्री इलेक्ट्रिसिटी इज नो इलेक्ट्रिसिटी। इससे न तो उपभोक्ताओं का भला होता है और न ही सरकार का। हरियाणा के लोगों ने भी इस बात को समझा है और वे सरकार का पूरा सहयोग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमने हरियाणा में चली आ रही बिजली के बिल न भरने की प्रथा पर करारा प्रहार किया। वर्ष 2015 में बाढ़डा में एक जन रैली के दौरान वहां के नागरिकों से बिजली के बिल भरने की अपील की और यही संदेश प्रदेशभर के नागरिकों तक पहुंचाया। इस पहल में लोगों ने भी हमारा सहयोग किया और आज हरियाणा बिजली क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर रहा है।

Meeting of Forum of Regulators
Meeting of Forum of Regulators

सरकार ने ओवरचार्ज माफ कर उपभोक्ताओं को पहुंचाई राहत

सीएम ने कहा कि बिजली क्षेत्र के सुदृढ़ीकरण के लिए सरकार ने ओवरचार्ज माफ कर उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाई। इतना ही नहीं, डिफॉल्टर हो चुके उपभोक्ताओं को बिजली बिलों की मूल राशि का किस्तों में भुगतान करने का विकल्प प्रदान किया गया और करोड़ों रुपए का ब्याज व सरचार्ज भी माफ किया गया। राज्य सरकार द्वारा किए गए पहलों के बल पर ही पिछले 2 साल में एनर्जी एफिशिएंसी रैंक में हरियाणा शीर्ष राज्यों में शामिल हुआ है।

पिछले 8 सालों में राज्य सरकार ने बिजली दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले 8 सालों में बिजली की दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की, बल्कि बिजली की दरों को घटाकर लोगों को राहत पहुंचाई है। एफएसए 37 पैसे था, जो हमने समाप्त कर दिया। इतना ही नहीं, बिजली की दर 150 यूनिट तक 4.50 रुपए प्रति यूनिट थी, जिसमें हमने कमी की और 200 यूनिट तक 2.50 रुपए प्रति यूनिट तथा 50 यूनिट तक मासिक बिजली खपत करने पर 2 रुपए प्रति यूनिट की दर निर्धारित की।

उन्होंने कहा कि सरकार की सोच है कि 50 यूनिट तक बिजली की खपत करने वाले उपभोक्ताओं को और रियायत पहुंचाई जा सके, ताकि गरीब परिवारों को राहत मिल सके। इसके लिए सरकार विद्युत नियामक आयोग से इस प्रस्ताव पर चर्चा करेगी।

लाइन लॉस में कमी लाकर बिजली निगमों को घाटे से उबारा

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 में राज्य में लाइन लॉस 29 प्रतिशत थे, जो आज घटकर 14 प्रतिशत पर आ गए हैं। इससे लगभग 6 हजार करोड़ रुपए की बचत हुई है। सरकार और बिजली निगमों के प्रयासों से आज हरियाणा के चारों बिजली निगम लाभांश की स्थिति में है। सरकार ने बिजली की चोरी रोकने व लाईन लॉस कम करने तथा मीटरिंग व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने पर बल दिया है।

1 लाख सोलर कनेक्शन देने का लक्ष्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र में तो पंजाब तथा हरियाणा में लगभग फ्री बिजली दी जा रही है, लेकिन हमने सौर ऊर्जा के उपयोग को भी बढ़ावा देने पर जोर दिया है। इसके तहत, 30 हजार सोलर कनेक्शन दिए जा चुके हैं तथा 50 हजार और सोलर कनेक्शन देने का काम चल रहा है।

कुल 1 लाख सोलर कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सौर ऊर्जा के उपयोग से यह परिणाम हुआ कि जहां पहले बिजली पर कुल 7200 करोड़ रुपए सब्सिडी के रूप में दिए जाते थे, वहीं आज 5500 करोड़ रुपए सब्सिडी के रूप में दिए जाते हैं। इसके अलावा, सरकारी भवनों में सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए रूफटॉप सोलर पॉलिसी को लागू किया है।

यह भी पढ़ें :Sapna Chaudhary New Song : सपना चौधरी का सॉन्ग ‘नशीले नैन’ मचा रहा धमाल

यह भी पढ़ें : International Gita Mahotsav 2022 : शिल्प और क्राफ्ट मेला कल से शुरू

Connect With Us : Twitter, Facebook

Latest stories

Related Stories