Tuesday, October 4, 2022
HomeहरियाणाकरनालKarnal factory Raid: सीएम फ्लाइंग ने फैक्ट्री में की छापेमारी, 32 टन...

Karnal factory Raid: सीएम फ्लाइंग ने फैक्ट्री में की छापेमारी, 32 टन फॉर्मेल्डिहाईड बरामद

Date:

करनाल/

सीएम फ्लाईंग टीम ने प्रतिबन्धित कैमिकल बनाने वाली दो फैक्ट्रियों में छापेमारी करते हुए सैकड़ोंलीटर फॉर्मलडिहाइड कैमिकल बरामद किया, जिन दो फैक्ट्रियों पर छापे की कार्रवाई हुई है ये दोनों फैक्ट्रियां उन 34 फैक्ट्रियों में शामिल हैं जिनको कोर्ट ने बन्द करने के आदेश दिए हैं, मुख्यमंत्री उड़नदस्ते की रेड के बाद प्रदूषण विभाग, बिजली निगम, पुलिस, एक्साईज विभाग की टीमें भी छानबीन के लिए की।

सीएम फ्लाईंग टीम ने गांव अलीपुर और पूंडरी इलाके में अवैध रूप से चलाई जा रही दो फैक्ट्रियों पर छारेमारी की,  अलीपुर स्थित जेआरएस कम्पनी और पूंडरी गांव के पास बनी एएनएमआर कैमिकल्स में प्रतिबंधित फॉर्मलडिहाइड रसायन बनाया जा रहा था,  पर्यावरण नियमों के कारण एनजीटी ने इस कैमिकल का निर्माण करने वाली 34 फैक्ट्रियों को बंद करने के आदेश दिए थे।

एनजीटी के आदेशों के बावजूद इन दोनों फैक्ट्रियों में फॉर्मलडिहाइड बनाया जा रहा था, सीएम फ्लाईंग टीम के छापे के बाद कई अन्य विभागों की टीम भी छानबीन के लिए बुलाई गई,  फैक्ट्रियों से मिले कैमिकल की मात्रा और दस्तावेजों की जांच की गई।

कैमला पूंडरी रोड पर स्थित एएनएमआर कैमिकल फैक्ट्री  पर दो माहीने पहले भी प्रशासन की छापेमारी हुई थी, इस फैक्ट्री को बंद करने के लिए इसका बिजली कनेक्शन काट दिया गया था, फैक्ट्री को अवैध तरीके से चलाने के लिए फैक्ट्री मालिक ने बिजली कनेक्शन का जुगाड़ भी फर्जी तरीके से किया।

छापे में खुलासा हुआ कि फैक्ट्री के साथ लगते खाली मैदान में इंडस्ट्री के नाम से बिजली कनेक्शन लेकर सप्लाई एएनएमआर में दी गई थी, मौके पर बुलाये गई बिजली विभाग के लाईनमैन ने भी बताया कि उन्हें इस नए कनेक्शन देने के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

अलीपुर स्थित जेआरएस कैमिकल फैक्टरी में छापे के दौरान हजारों लीटर फॉर्मलडिहाइड कैमिकल मिला है, फैक्ट्री में बने टैंक कैमिकल से भरे पड़े हैं, और करीब 32 टन फॉर्मलडिहाइड से भरा टेंकर बरामद हुआ है,  कोर्ट के आदेशानुसार कैमिकल निर्माण पर प्रतिबंध लगाया गया था, वहीं फैक्ट्री मालिक का दावा है कि बीते दो महीने से प्लांट बन्द पड़ा हुआ है।

फॉर्मलडिहाइड रसायन काफी संवेदनशील कैमिकल है और यह स्वास्थ्य के लिए बेहद घातक है,  इस कैमिकल का प्रयोग प्लाईवुड इंडस्ट्री में किया जाता है, पर्यावरण पर होने वाले खतरे को देखते हुए एनजीटी ने इस कैमिकल के निर्माण पर प्रतिबंध लगाया है, एनजीटी ने जिन फैक्ट्रियों को  बन्द करने के आदेश दे रखे हैं  उनके चलते मिलने से प्रदूषण नियंत्रण विभाग सवालों के घेरे में है, 

सीएम फ्लाईंग टीम की रेड के बाद मौके पर पहुंचे राज्य प्रदूषण नियंत्रण विभाग के एसडीओ हार्दिक कुमार मीडिया के सवालों से बचते रहे, हार्दिक ने सिर्फ इतना ही कहा कि वे ब्यान देने के लिए अधिकृत नहीं हैं ।

Latest stories

Related Stories