Saturday, January 28, 2023
HomeहरियाणाकरनालKalpana Chawla Medical College : उत्पीड़ित मामले में गठित की गई जांच...

Kalpana Chawla Medical College : उत्पीड़ित मामले में गठित की गई जांच कमेटी, 15 दिन का दिया गया समय

Date:

इशिका ठाकुर, Haryana (Kalpana Chawla Medical College) : हरियाणा के जिला करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में शनिवार को 11 सदस्यीय कमेटी निरीक्षण के लिए पहुंची। इस दौरान कॉलेज छात्राओं ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए ट्रेनर पवन कुमार पर यौन उत्पीड़न के आरोप जड़ दिए। कमेटी में चार विधायक भी शामिल हैं जिसमें असंध विधायक शमशेर सिंह गोगी, विधायक शीशपाल, दुराज व अन्य है।

गठित की गई जांच कमेटी में शामिल असंध के कांग्रेसी विधायक शमशेर सिंह गोगी ने बताया कि लड़कियां कमेटी के सामने आई थी और ऐसा लग रहा है कि कॉलेज की स्थिति बेहद गंभीर है। सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देती है, लेकिन बेटियां ना तो खेल के मैदान में और न ही शिक्षण संस्थानों में सुरक्षित हैं, बेटियों की जुबान को जबरन दबाने की कोशिश की जा रही है।

Kalpana Chawla Medical College
Kalpana Chawla Medical College

कमेटी सदस्यों से मिलने से पहले छात्राओं ने CM को ई मेल के जरिये भेजी गई शिकायत में छात्राओं ने OP मास्टर ट्रेनर पर 7 पेज की चिट्ठी में आप बीती बताई। छात्राओं ने आरोप लगाए है कि मास्टर ट्रेनर ने उनका ब्रेन वॉश करना शुरू कर दिया था। मास्टर ट्रेनर छात्राओं को कहता था कि तुम्हारा यहां मेरे अलावा कोई नहीं है। तुम्हारे मां बाप भी नहीं चाहते कि तुम्हारा भला हो। सिर्फ मेरे साथ हर टाइप की बातें शेयर करनी है। यहां तक कि छात्राओं को लालच भी दिया गया था कि जो बच्चा उनको सब बच्चों की सभी बातें बताएगा, वह उसको CR बना देंगे। साथ ही उसको PGI चंडीगढ़ में भी नौकरी पर लगवा देंगे। मास्टर ट्रेनर छात्राओं पर अश्लील टिप्पणी भी करता था। मास्टर ट्रेनर द्वारा छात्राओं को ईमोशनल ब्लैकमेल किया जाता था। CR को भी काफी ज्यादा प्रताड़ित किया गया, जिसका स्वास्थ्य भी खराब हो चुका है।

मेडिकल की छात्राओं को मास्टर ट्रेनर की प्रताड़ना का शिकार होना पड़ा है। इस तरह की बातें उनके साथ की गई कि कोई भी शर्म से शर्मा जाए। मास्टर ट्रेनर होने की वजह से छात्राएं विरोध भी नहीं कर पाती थी। अगर विरोध करती तो उनको प्रताड़ित किया जाता था। यहीं नहीं छात्राओं को उल्टे सीधे मैसेज भी किए जाते थे। यदि कोई रिप्लाई नहीं करता तो उनको अगले दिन टॉर्चर किया जाता था। छात्राएं पढ़ाई के लिए कॉलेज में आई थी लेकिन उनके साथ पढ़ाई के नाम पर कुछ और ही हो रहा था।

वहीं इस मामले को लेकर जब मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर जगदीश दूरेजा से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। असंध कांग्रेस विधायक शमशेर सिंह गोगी ने बताया कि इस मामले में हमने संज्ञान लिया है। OT ट्रेनर को दो हफ्ते की छुट्टी पर भेज दिया है। जांच के लिए कमेटी का गठन कर दिया है। 11 दिन में कमेटी अपनी रिपोर्ट सौपेंगी।

ये भी पढ़ें: Ram Rahim Parole Updates : राम रहीम पैरोल मिलते ही यूपी बागपत आश्रम रवाना

Connect With Us : Twitter, Facebook

Latest stories

Related Stories