Thursday, December 8, 2022
Homeहरियाणाराज्यसभा चुनाव में कार्तिकेय शर्मा की एंट्री से रोचक हुआ मुकाबला

राज्यसभा चुनाव में कार्तिकेय शर्मा की एंट्री से रोचक हुआ मुकाबला

Date:

इंडिया न्यूज, Rajya Sabha Elections News: हरियाणा की राज्यसभा सीटों के लिए आज नामांकन का अंतिम दिन है। बड़ी जानकारी आई है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे कार्तिकेय शर्मा निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे जिसको लेकर आज उन्होंने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। सीटों के लिए मतदान 10 जून को होगा। वहीं बता दें कि भाजपा से पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर कृष्ण लाल पंवार ने नामांकन भरा है, वहीं कांग्रेस की तरफ से अजय माकन ने नामांकन भरा।

विनोद शर्मा के पुत्र हैं कार्तिकेय शर्मा

बता दें कि कार्तिकेय शर्मा पूर्व मंत्री विनोद शर्मा के बेटे हैं। विनोद शर्मा पहले कांग्रेस में थे, लेकिन किन्हीं कारणों से विनोद शर्मा ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया था और अपनी अलग पार्टी हरियाणा जनचेतना पार्टी बना ली थी।

हरियाणा की इतनी सीटें होंगी खाली

मालूम रहे कि हरियाणा में राज्यसभा की दो सीटें खाली होने जा रही हैं। एक सीट निर्दलीय सांसद सुभाष चंद्रा की और दूसरी भाजपा सांसद दुष्यंत गौतम की सीट है। दोनों का कार्यकाल इसी जुलाई में खत्म हो होने जा रहा है। जीत के लिए 31 विधायकों का मतदान जरूरी है। भाजपा के पास 40 विधायक हैं। सहयोगी पार्टी जजपा के पास 10, 7 निर्दलीय, 1 इनेलो, 1 हलोपा और कांग्रेस के पास 31 विधायक हैं।

कार्तिकेय शर्मा जीतेंगे चुनाव : अजय चौटाला

पार्टी के सीनियर नेता अजय चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी के सभी 10 विधायकों का समर्थन कार्तिकेय शर्मा को है और उन्हें उम्मीद है कि वह चुनाव जीत जाएंगे। ऐसे में साफ है कि कहीं न कहीं कांग्रेस बैकफुट पर नजर आ रही है। कार्तिकेय शर्मा ने कहा कि वो राज्यसभा में हरियाणा के लोगों की आवाज उठाएंगे और प्रदेश के मुद्दों को सबके बीच रखेंगे।

ये बोले पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा

वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के अजय माकन बाहरी उम्मीदवार हैं। उन्होंने कहा कि बेटे कार्तिकेय शर्मा के नामांकन के वक्त कैबिनेट मिनिस्टर व निर्दलीय रणजीत सिंह चौटाला मौजूद रहे। रणजीत सिंह ने भी साफ कर दिया है कि वो कार्तिकेय शर्मा के साथ हैं और वो राज्यसभा चुनाव में जरूरी जीतेंगे।

इन सीटों के लिए होगा मतदान

हरियाणा-पंजाब सहित 15 राज्यों में 57 राज्यसभा सीटों के लिए 10 जून को मतदान होगा। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 11 सीटों के लिए वोटिंग होगी। अन्य 12 राज्यों में आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, राजस्थान, उत्तराखंड, बिहार, और झारखंड शामिल हैं।

सीटों पर एक नजर, हरियाणा में विधानसभा की 90 सीटें

90 सदस्यों वाली हरियाणा विधानसभा में राज्यसभा की पहली सीट जीतने के लिए भाजपा को 31 विधायकों की जरूरत होगी। पार्टी के खुद के 40 विधायक हैं। इसलिए कृष्ण लाल पंवार को किसी तरह का जोखिम अजय माकन की जीत सुनिश्चित करने के बाद कांग्रेस को 30 विधायक चाहिएं। पार्टी के पास 31 विधायक हैं। आदमपुर विधायक कुलदीप बिश्नोई लंबे से पार्टी से खफा चल रहे हैं जो कि कांग्रेस के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। जजपा के 10 और 7 निर्दलीय विधायक हैं। ऐलनाबाद से इनेलो के अभय सिंह चौटाला और सिरसा से गोपाल कांडा विधायक हैं। बता दें कि भाजपा के 40 विधायक हैं। वहीं 10 विधायक जजपा के पास हैं। इनके अलावा 7 निर्दलीय विधायक हैं। इनके अलावा इनेलो से अभय चौटाला और हलोपा से गोपाल कांडा विधायक हैं। कार्तिकेय शर्मा के चुनाव में उतरने के बाद कांग्रेस बैकफुट पर नजर आ रही है। जजपा द्वारा उनको समर्थन दिए जाने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है।

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories