Wednesday, December 7, 2022
Homeहरियाणाहरियाणा के गांवों के जीवन में ही रचा-बसा है एडवेंचर : मनोहर...

हरियाणा के गांवों के जीवन में ही रचा-बसा है एडवेंचर : मनोहर लाल

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में एडवेंचर को भी सामान्य खेल की तर्ज पर आगे बढ़ाने के लिए जो भी इन्फ्रास्ट्रकचर की आवश्यकता होगी, उसे पूरा किया जाएगा, ताकि हमारे युवा अन्य खेलों की तरह एडवेंचर खेलों में भी अपनी धमक दिखा सकें। इसके साथ ही एडवेंचर स्पोर्ट्स के जरिए हरियाणा में पर्यटन व्यवसाय को बढ़ावा दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री स्कूल शिक्षा विभाग एवं एडवेंचर क्लब द्वारा आयोजित स्कूली विद्यार्थियों के पर्वतारोहण दल को रवाना करते समय संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा के गांवों के जीवन में एडवेंचर रचा बसा है, इसलिए युवाओं को ट्रेनिंग देकर एडवेंचर स्पोर्ट्स के व्यवसाय में लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि 1000 युवाओं को एडवेंचर प्रशिक्षण देकर काबिल बनाया जाएगा।

मिल्खा सिंह क्लब की स्थापना…

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में एडवेंचर गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए मोरनी में सरदार मिल्खा सिंह क्लब की स्थापना की गई है जिससे इस क्षेत्र में कई गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। इसके अलावा युवाओं के लिए अरावली की पहाड़ियों में भी ट्रेकिंग के रास्तों की तलाश की जा रही है, ताकि दक्षिण हरियाणा में भी एडवेंचर स्ट्रक्चर बढ़ाया जा सके।

युवा पीढ़ी देश का भविष्य है और युवाओं को स्पोर्टस स्किल में आगे बढ़ाना सरकार का दायित्व है, ताकि वे देश के अच्छे नागरिक बन सकें। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए ऐसे कार्यक्रम लेकर आ रही है, जिससे वे आत्मनिर्भर और स्वावलम्बी बनकर देश को प्रगति की ओर लेकर जा सके।

सेवा, सुरक्षा और स्पोर्ट्स में नंबर वन हरियाणा

मुख्यमंत्री ने कहा कि सेवा, सुरक्षा और स्पोर्टस में हरियाणा नम्बर वन पर है। देश की दो फीसदी आबादी के बाद भी हरियाणा के युवाओं ने 19 फीसदी से अधिक गोल्ड मेडल जीते हैं। हरियाणा खेलों में देश की राजधानी है। इसका परिणाम खेलो इंडिया में देखने को मिला है और हरियाणा देशभर में प्रथम स्थान पर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के साथ युवा खेल एवं अन्य गतिविधियों में भी भाग ले रहे हैं। वर्तमान समय में खेलने कूदने वाले भी नवाब बन रहे है और किसी से पीछे नहीं रह रहे हैं ।

स्कूली विद्यार्थियों के लिए पर्वतारोहण अनूठी योजना

प्रदेश के स्कूली विद्यार्थियों के लिए पर्वतारोहण की एक अनूठी योजना चलाई है। इसके तहत जो विद्यार्थी पहाड़ों की सबसे ऊंची 10 चोटियों में से किसी एक की चढ़ाई करने पर 5 लाख रुपए की राशि पुरस्कार के रूप में प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि सभी पर्वतारोही लक्ष्य साधकर आगे बढ़ें। पर्वतारोहियों को हरियाणा में सबसे ज्यादा आर्थिक सहायता दी जा रही है।

हरियाणा के धाकड़ बनने का दिया संदेश

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार पर्वतारोही दल में 100 विद्यार्थी भाग ले रहे हैं। इनमें 22 दिव्यांग है। उन्होंने पर्वतारोहण जाने वाले विद्यार्थियों से सीधा संवाद करते हुए उनके समक्ष आने वाली चुनौतियों और समस्याओं के बारे में जाना। उन्होंने पर्वतारोही दल के सामने कोई कठिनाई आने पर उसे हिम्मत से पार करने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि एक बार आगे बढ़ जाएंंगे तो आप धाकड़ बन जाएंगे। हरियाणा में शरीर, बुद्धि और बल से आगे बढ़ने वाले को धाकड़ कहा जाता है। इस पर विद्यार्थियों ने खुशी का इजहार किया।

एडवेंचर क्लब को 5 लाख रुपए देने की घोषणा

वहीं मुख्यमंत्री ने कैथल की संजली, गुरुग्राम की मंजु, सोनीपत के जयदीप और श्रवण व वाणी बाधित मुस्कान व गौरव से सीधी बातचीत की और अपने स्वैच्छिक कोष से एडवेंचर क्लब को 5 लाख रुपए देने की घोषणा की।

स्कूली विद्यार्थियों ने बढ़ाया सरकार का साहस : कंवर पाल

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा कि 13 दिन के पर्वतारोहण कार्यक्रम पर स्कूल एजूकेशन एकेडमिक सैल की और से 40 लाख रुपए की राशि खर्च की जाएगी। स्कूली विद्यार्थियों ने हर क्षेत्र में अच्छे परिणाम दिए हैं। सुपर 100 कार्यक्रम की बेहतर सफलता के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस कार्यक्रम को सुपर 500 कर चार और स्थानों से शुरू कर दिया है।

इसके अलावा 10 से 12वीं के विद्यार्थियों को टेबलेट देने का कार्य किया है, ताकि हरियाणा के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थी नवीनतम तकनीक में पीछे न रहें। उन्होंने कहा कि इस पर्वतारोहण दल में जाने वाले 6111 मीटर की ऊंचाई पर लाहौल के भरतपुर युनाम पर्वत की चढ़ाई करेंगे।

यह भी पढ़ें : हरियाणा का मुख्यमंत्री निवास हुआ ‘संत कबीर कुटीर’

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories