Saturday, January 28, 2023
HomeहरियाणाHaryana Kharif Crops : 400 से अधिक मंडियों में होगी धान सहित...

Haryana Kharif Crops : 400 से अधिक मंडियों में होगी धान सहित अन्य खरीफ फसलों की खरीद

Date:

इंडिया न्यूज, Haryana News (Haryana Kharif Crops): हरियाणा में धान की खरीद 1 अक्टूबर से शुरू होगी, जो 15 नवंबर तक जारी रहेगी। प्रदेश में लगभग 400 से अधिक मंडियों में खरीफ फसलों की खरीद के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। इस बार सरकार ने 55 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद का लक्ष्य रखा है।

फीस की जगह अब सीधा 100 रुपए प्रति क्विंटल फीस लगेगी

राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि जो धान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर नहीं खरीदा जाता, जैसे बासमती व डुप्लीकेट बासमती, उस पर 4 प्रतिशत मार्केट फीस की जगह अब सीधा 100 रुपए प्रति क्विंटल फीस लगेगी, जिसमें से 50 रुपए मंडी बोर्ड को जाएंगे और 50 रुपए हरियाणा ग्रामीण विकास फंड में उपकर के रूप में जमा होंगे।
इसके अलावा, सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि एमएसपी पर खरीद हेतू जिन क्षेत्रों में धान की अच्छी पैदावार होती है, उन क्षेत्रों में औसत पैदावार 30 क्विंटल प्रति एकड़ व अन्य क्षेत्रों में 28 क्विंटल प्रति एकड़ मानी जाएगी।

किसानों को नहीं करना पड़ेगा परेशानी का सामना

राज्य सरकार की घोषणा अनुसार अन्य खरीफ फसलों की खरीद भी एक अक्टूबर से प्रारंभ होगी। फसलों की सुगम खरीद के लिए समुचित व्यवस्था की गई है। किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ये विभाग इतनी करेगा खरीद

विपणन सत्र 2022-23 के दौरान धान, बाजरा, मक्का, मूंग, सूरजमुखी, मूंगफली, तिल, अरहर और उड़द आदि फसलों की खरीद की जाएगी। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा धान की 50 प्रतिशत खरीद की जाएगी। इसके अलावा, हैफेड द्वारा 30 प्रतिशत, हरियाणा राज्य भंडारण निगम द्वारा 15 प्रतिशत तथा भारतीय खाद्य निगम द्वारा 5 प्रतिशत धान की खरीद की जाएगी।

एमएसपी पर की जाएगी खरीद

खरीफ फसलों की खरीद भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर की जाएगी। धान (कॉमन) के लिए 2040 रुपए प्रति क्विंटल, धान (ग्रेड-ए) के लिए 2060 रुपए प्रति क्विंटल, बाजरा के लिए 2350 रुपए प्रति क्विंटल, मक्का के लिए 1962 रुपए प्रति क्विंटल, मूंग के लिए 7755 रुपए प्रति क्विंटल, सूरजमुखी के लिए 6400 रुपए प्रति क्विंटल, मूंगफली के लिए 5850 रुपए प्रति क्विंटल, तिल के लिए 7830 रुपए प्रति क्विंटल, अरहर व उड़द के लिए 6600 रुपए प्रति क्विंटल एमएसपी निर्धारित किया गया है।

राज्य सरकार द्वारा खरीफ फसलों की निर्बाध खरीद सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त संख्या में मण्डियों की व्यवस्था की गई है। धान की खरीद के लिए 201 मंडिंया, बाजरा की खरीद के लिए 86, मक्का की खरीद के लिए 19, मूंग की खरीद के लिए 38 मंडियां, सूरजमूखी की खरीद के लिए 9 मंडियां, मूंगफली की खरीद के लिए 7 मंडियां, तिल की खरीद के लिए 27 मंडियां, अरहर की खरीद के लिए 22 मंडियां तथा उड़द की खरीद के लिए 10 मंडियां निर्धारित की गई हैं।

हेल्प डेस्क से होगा किसानों की समस्या का समाधान

मंडियों में किसानों की मदद के लिए हेल्प डेस्क की सुविधा स्थापित की गई है। इस हेल्प डेस्क पर मार्केटिंग बोर्ड, कृषि व संबंधित विभाग के अधिकारी तैनात होंगे। हेल्प डेस्क पर किसानों की शिकायतों का भी निवारण किया जाएगा।

ये भी पढ़ें : Farmers Protest Update : खरीद का आश्वासन मिला, किसानों ने खोला जाम

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories