Tuesday, December 6, 2022
Homeहरियाणाकश्मीरी हिन्दुओं की हत्याओं को लेकर दिल्ली जंतर-मंतर पर होगा प्रदर्शन :...

कश्मीरी हिन्दुओं की हत्याओं को लेकर दिल्ली जंतर-मंतर पर होगा प्रदर्शन : नवीन जयहिंद

Date:

इंडिया न्यूज, Ambala News : अम्बाला कैंट में सुरिंदर राजू शर्मा द्वारा राधा कृष्ण मंदिर में मीटिंग आयोजित की गई जिसमें नवीन जयहिन्द ने 26 जून को दिल्ली जंतर-मंतर पर सभी से पहुंचने की अपील की। सभा में जयहिन्द ने बताया कि कश्मीर से कश्मीरी पंडितों और हिन्दुओं का पलायन करने का सिलसिला लगातार जारी है और हर रोज उनकी हत्याएं की जा रही हैं, लेकिन सरकार कश्मीरी पंडितों के साथ-साथ हिन्दुओं के लिए कुछ नहीं कर रही। कश्मीरी हिन्दुओं की हो रही हत्याओं को लेकर 26 जून को दिल्ली के जंतर-मंतर पर हजारों युवाओं द्वारा फरसे के साथ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

26 जून को दिल्ली जंतर-मंतर पर कश्मीरी पंडितों के समर्थन में होगा प्रदर्शन

जयहिन्द ने बताया कि गत दिनों रोहतक के पहरावर गांव में गौड़ संस्था की जमीन मामले को लेकर 37 बिरादरी द्वारा गौड़ संस्था की जमीन पर हजारों फरसाधारी युवाओं द्वारा किया गया विरोध प्रदर्शन सिर्फ फिल्म का ट्रेलर था, लेकिन फिल्म 26 जून को दिल्ली में रिलीज की जाएगी जिसमें हजारों युवा फरसा लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करेंगे और कश्मीरी पंडितों के साथ हिन्दुओं को AK-47 देने की मांग करेंगे।

देश का नागरिक लाल चौक से फेसबुक लाइव भी नहीं कर पा रहा

जयहिन्द ने पिछले दिनों कश्मीर के लाल चौक पर किये गए 1 घंटे के फेसबुक लाइव के बारे में बताया और कहा कि देश के राज्य कश्मीर में इस तरह के हालात हैं कि देश का कोई नागरिक लाल चौक से फेसबुक लाइव भी नहीं कर सकता। फेसबुक लाइव करने पर ही आतंवादियों द्वारा उन्हें भी टारगेट कर लिया गया था पर समय रहते देश के वीर जवानों द्वारा उन्हें सुरक्षा प्रदान की गई और बचा लिया गया। हो सकता है कि टारगेट किए जाने के कारण उनकी भी हत्या कर दी जाती।

कश्मीरी पंडित और कश्मीरी हिन्दू डर के साये में जी रहे

कश्मीर के दयनीय हालातों को बताते हुए जयहिन्द ने कहा कि वास्तव में कश्मीर के हालात बहुत ही दयनीय हैं कश्मीरी पंडित ओर कश्मीरी हिन्दू डर के साये में जी रहे हैं उन्हें स्वयं ही नहीं पता कि मौत कब उन्हें गले लगा ले। कश्मीर में अकेले कश्मीरी पंडित ही नही हैं दूसरी सभी बिरादरी के हिन्दू कश्मीर से पलायन कर रहे हैं जिनके लिए 26 जून को दिल्ली के जंतर मंतर पर हजारों युवाओ द्वारा प्रदर्शर किया जाएगा।

मुख्यमंत्री के कर्मकांडो के कारण सीएम आवास का नाम हो कंस कुटीर

वहीं हरियाणा के सीएम पर तंज कसते हुए जयहिन्द ने बताया कि मुख्यमंत्री ने सीएम आवास का नाम संत कबीर दास कुटीर रखा है, लेकिन मुख्यमंत्री का हरियाणा के युवाओं, खिलाड़ियों, बेरोजगारों और उन्हीं की पार्टी के नेताओं के खिलाफ कठोर व्यवहार है, जिससे मुख्यमंत्री जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहे हैं क्योकि संत कबीर दास एक महान संत थे जो भोग विलास की वस्तुओं से दूर रहते थे और एक आम इंसान की तरह बिना किसी जातिवाद ओर भेदभाव से सभी इंसानों से मिलते थे, जबकि मुख्यमंत्री ऐसे स्थान पर निवास करते हैं, जोकि आलीशान महल हैं। जहां अकेले गर्मी से बचाव के लिए ही हर कमरे में एयरकंडिशनर लगे हुए हैं, इसलिए मुख्यमंत्री आवास का नाम कबीर कुटीर की जगह कंस कुटीर होना चाहिए।

गृह मंत्री अनिल विज जम्मू लाल चौक जाए व 1 लाख का ईनाम पाए

जयहिन्द ने अम्बाला कैंट से विधायक व मंत्री अनिल विज्ज को भी चुनोती देते हुए कहा कि अगर अनिल विज व अन्य कोई विधायक या मंत्री जम्मू में लाल चौक पर जाकर 1 घंटे लाइव करके दिखाएं तो मैं उन्हें 1 लाख रुपए का ईनाम व रहना और आने जाने का खर्चा देंगे। जयहिन्द ने बताया कि वास्तव में कश्मीर के हालात इतने दयनीय हैं कि गत दिनों जयहिन्द की टीम द्वारा फेसबुक लाइव करने पर उन्हें ही टारगेट कर लिया गया था। साथ ही जयहिन्द ने बताया धारा 370 हटाना अच्छी बात है लेकिन वहां की जो धरातल की स्थिति है, वह पहले से भी ज्यादा खराब हो चुकी है।

अग्निवीरों को पेंशन नहीं तो सदन वीरो को पेंशन क्यों

जयहिन्द ने बताया कि यह सरकार जो अग्निवीर नामक योजना के तहत युवाओं को फौज में भर्ती कर रही है, इसमें सिर्फ 4 साल का कार्यकाल रखा गया है। जो नौजवान युवा फौज में भर्ती के लिए दिन-रात मेहनत करते हंै, उनके साथ यह नाइंसाफी है। साथ ही जयहिन्द ने बताया कि चार साल फौज में जाकर जवान क्या करेंगे। वे चार साल में तो सिर्फ गोली चलाना ही सीखेंगे और फिर यहां आकर वे शूटर या फिर गैगस्टर बनेंगे। सबसे बड़ी बात तो यह है कि चार साल फौज की नौकरी करने बाद भी जवानों की पेंशन नही बनेगी। तो सवाल यह है कि जब इन अग्निवीर जवानों को पेंशन नही मिलेगी ओर न ही भूतपूर्व सैनिक का कोटा मिलेगा तो ये जो सदनवीर है (विधायक, मंत्री) इनकी भी पेंशन बन्द होनी चाहिए। इस मीटिंग मे अम्बाला की सभी ब्राह्मण सभाओ के पदाधिकारी माजूद रहे सुरिंदर राजू शर्मा अतुल शर्मा राजिंदर कौशिक जयभागवान शर्मा राजेश गोल्डी मदन लाल शर्मा सुरेश कौशिक राजीव शर्मा सतीश शर्मा देवी लाल शर्मा और अन्य सदस्य माजूद रहे।

यह भी पढ़ें : हरियाणा भिवानी बोर्ड की 12वीं का रिजल्ट आज

यह भी पढ़ें : देश में आज फिर कोरोना की रफ्तार बढ़ी

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories