Tuesday, December 6, 2022
Homeत्यौहार'वर्ल्ड मिल्क डे' पर जानें दूध को क्यों कहा जाता है देवताओं...

‘वर्ल्ड मिल्क डे’ पर जानें दूध को क्यों कहा जाता है देवताओं का भोजन

Date:

इंडिया न्यूज, Health News : दूध को कम्पलीट फूड कहा जाता है क्यूंकि इसमें कई पोषक तत्व मौजूद होते है। हर उम्र के लोगों के लिए दूध का सेवन बेहद जरूरी है। कई रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि जो लोग बचपन में दूध का सेवन नहीं करते, उन्हें उम्र बढ़ने के साथ कई हेल्थ प्रोब्लेम्स हो जाती है। हर साल 1 जून को विश्व दूध दिवस के रूप में मनाया जाता है। आज नेशनल मिल्क डे पर जानते हैं दूध से जुड़े कुछ रोचक फैक्ट्स

दूध का सेवन करने के फायदे

दूध स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होता है यह स्वस्थ रहने और बीमारियों से बचाव में मदद करता हैं। तो आईये जानते हैं कि दूध पीने से होने वाले फायदों के बारे में –

हडियों और मांसपेशियों को करता है मजबूत

दूध और अन्य डेयरी पदार्थ कैल्शियम व मैग्नीशियम के महत्वपूर्ण स्रोत होते हैं। हड्डियों के विकास के लिए यह पोषक तत्व जरूरी माने गए हैं। दूध हड्डियों को मजबूत बनाकर बढ़ती उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी का एक प्रकार रोग) और फ्रैक्चर से बचाव में मदद कर सकता है।

वजन को करता है कम

दूध बढ़े हुए वजन को कम करने में बेहद असरदार है। एक रिसर्च के मुताबिक, डेयरी का सेवन करने वाले 38% बच्चों का वजन इसका सेवन कम करने वालों के मुकाबले नियंत्रित था। दूध और डेयरी उत्पाद प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं प्रोटीन वजन घटाने व नियंत्रित करने में सहायक होता है। इसकी मदद से भोजन के बाद बार-बार होने वाली खाने की इच्छा को कम करके एनर्जी की खपत को रोकता है, जिससे शरीर में फेट कम हो सकता है।

ये भी पढ़े : गर्मियों में वेटलॉस करने का सबसे आसान तरीका, कम मेहनत में होगा ज्यादा फायदा

हार्ट हेल्थ में फायदेमंद

रोजाना दूध से हृदय स्वस्थ रहता है। इसका नियमित रूप से सेवन करने से हृदय संबंधी बीमारियों से बचने में मदद मिलती है। एक स्टडी के अनुसार, रोजाना 200 ml दूध पीने वाले लोगोंं में स्ट्रोक का 7 प्रतिशत जोखिम कम होता है।

डायबिटीज की समस्या में रोजाना करें दूध का सेवन

रोजाना दूध का सेवन करने से मधुमेह के खतरा से भी बचा जा सकता है। इसमें मौजूद कैल्शियम, मैग्नीशियम व पेप्टाइड्स शरीर में ग्लूकोज टोलरेंस और इंसुलिन सेंसटिविटी को संतुलित करते हैं। डेयरी पदार्थ में मौजूद फैटी एसिड टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को कम करता है।

-हाई फैट वाला दूध पीने से वजन तेजी से बढ़ता है। माना जाता है कि इसमें मौजूद बायोएक्टिव पदार्थ मौजूद होने के कारण फुल लो फैट दूध से मोटा होने की संभावना कम हो जाती है, जो वसा जलाने के लिए हमारे मेटाबॉलिज्म को तेज करता है।

-प्राचीन यूनानियों, रोमनों, मिस्रियों, भारतीयों और अन्य लोगों ने दूध को ‘देवताओं का भोजन’ भी कहा है हमेशा ही दूध को समृद्धि की निशानी समझा जाता है।

ये भी पढ़े : अपने बच्चों की अच्छी परवरिश के लिए सभी पेरेंट्स को जरूर फॉलो करने चाहिए ये रूल्स

-वर्कआउट करने के बाद आपको दूध का सेवन जरूर करना चाहिए। इससे थकावट जल्दी उतर जाती है और आप जल्दी रिकवर हो जाते हैं। दूध को कम्पलीट फूड कहा जाता है क्योंकि इसमें वसा, प्रोटीन, और कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

-एक गिलास दूध में एक चुटकी नमक मिलाने से यह लंबे समय तक तरोताजा रहता है। इसका स्वाद भी बढ़ जाता है।

-दूध से अगर मलाई हटा दें, तो दूध वास्तव में 85-95% पानी होता है। इसमें विटामिन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट की मात्रा मौजूद होती है।

-दूध में मानव शरीर को स्वस्थ रखने के लिए 9 जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं, इसमें कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, प्रोटीन, नियासिन, विटामिन ए, विटामिन बी 12, राइबोफ्लेविन और विटामिन डी शामिल हैं, इसलिए दूध को कम्पलीट फूड कहा जाता है।

ये भी पढ़े : गर्मियों में गोंद कतीरे का सेवन अमृत के सम्मान, जानिये इसके फायदे

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories