Friday, October 7, 2022
HomeCoronavirusCoronavirus: कोरोना वायरस के नए सब-वेरिएंट्स BA.4, BA.5 के लक्षणों को कैसे...

Coronavirus: कोरोना वायरस के नए सब-वेरिएंट्स BA.4, BA.5 के लक्षणों को कैसे पहचानें

Date:

इंडिया न्यूज, Corona Update: दुनियाभर में कोविड के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही हैं। भारत में कई महीनों बाद अब एक लाख से ज़्यादा कोविड मामले सामने आए हैं। बीते 24 घंटो में भारत में कोविड के 18,819 मामले सामने आए हैं, पिछले चार महीनों में जो सबसे ज़्यादा हैं। अमेरिका में ओमिक्रॉन के नए सब-वेरिएंट्स BA.4 और BA.5 को मामलों के बढ़ने का कारण बताया गया है।

ओमिक्रॉन के ये नए वेरिएंट पैरेंट वेरिएंट से भी ज़्यादा गंभीर हैं, इसी वजह से कोविड के मामलों में तेज़ी से वृद्धि हो रही हैं। भारत के महाराष्ट्र और तमिलनाडु में BA.4 और BA.5 के मामले सामने आए हैं।

तेज़ी से बढ़ रहे नए सब-वेरिएंट्स BA.4 और BA.5

अमेरिका के सीडीसी द्वारा जारी डाटा के अनुसार, कोविड के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। यह सब-वेरिएंट इम्यूनिटी और एंटीबॉडीज़ को नुकसान पहुंचा संक्रमण को फैला रहा हैं। जिन लोगों को वैक्सीन और बूस्टर शॉट लगा है, उन्हें भी यह इन्फेक्शन आसानी से हो रहा है।

क्या वैक्सीनेशन BA.4 और BA.5 से कर सकती है बचाव?

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि सभी को वैक्सीन लगवानी चाहिए, इस संक्रमण को ज्यादा फैलने से रोकना चाहिए।

कोविड की नई लहर से कैसे बचें

टेस्ट करवाएं: जिन लोगों को लक्षण महसूस हो रहे हैं, उन्हें अपना टेस्ट जरूर करवाना चाहिए। जिससे नए वैरिएंट को ट्रैक करने में आसानी रहेगी ओर फैलने से रोकने के लिए ज़रूरी कदम उठाए जाएंगे। जब से ये महामारी शुरू हुई है, तभी से WHO टेस्ट करवाने पर ज़ोर दे रहा है।

स्वच्छता बनाए रखें: हाथों को धोएं और सैनिटाइज़र का उपयोग करें ताकि संक्रमण फैलने से रुके। अपने चेहरे को छूने से बचे। खाना खाने से पहले हाथों को धोएं।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट का आदेश- नूपुर शर्मा टीवी पर आकर माफी मांगे

मास्क का उपयोग करें : कई शोध में साबित हो चुका है कि मास्क कोविड को फैलने से रोकता हैं। जब कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं थी, तब मास्क ने ही लोगों की कोविड से सुरक्षा की थी।

वैक्सीन और बूस्टर डोज: कोविड से बचने का एक मात्र तरीका है वैक्सीन। वैक्सीन से न सिर्फ कोविड संक्रमण पर काबू पाया गया बल्कि इन्फेक्शन को गंभीर होने से भी रोका।

नए सब-वेरिएंट के लक्षणों की क्या है पहचान

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, जो लोग सब-वैरिएंट से संक्रमित हुए हैं, उनमें तेज़ बुखार, कंजेशन, नाक बहना, कमज़ोरी जैसे लक्षण सामने आ रहे हैं। आमतौर पर यह लक्षण 3-4 दिन तक रहते हैं। यह लक्षण बुखार, गले में खराश, शरीर में दर्द, थकावट के साथ शुरू होते हैं जिससे खांसी और गले में इरिटेशन जैसी समस्या होने लगती है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये लक्षण ज़्यादा गंभीर नहीं है, लेकिन लोगों से आग्रह किया है वे कोविड के संक्रमण से बचने के लिए सावधानियां बरतना न छोड़ें।

यह भी पढ़ें : पंजाब में आज से 300 यूनिट बिजली मुफ्त

Connect With Us: Twitter Facebook

Latest stories

Related Stories